नई दिल्लीः कैंब्रिज एनालिटिका केस में बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा है. वहीं कांग्रेस ने भी बीजेपी पर पलटवार किया है. केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि फेसबुक डेटा लीक मामले में कैंब्रिज एनालिटिक के सीईओ को सस्पेंड किया गया है. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रोफाइल में कैंब्रिज एनालिटिका का क्या रोल है? उन्होंने कहा कि सरकार साइबर सुरक्षा के लिए गंभीर है. इसका दुरुपयोग बर्दाश्त नहीं करेगी.बता दें कि कैंब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक के 5 करोड़ सदस्यों से जुड़ी जानकारियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगा है.

बीजेपी के आरोपों पर कांग्रेस ने पलटवार किया है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी की झूठ की फैक्ट्री ने आज एक और झूठ प्रोड्यूस किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि फेक स्टेटमेंट, फेक कॉन्फ्रेंस, फेक एजेंडा बीजेपी और इसके लॉलेस मिनिस्टर रवि शंकर प्रसाद की पहचान बन गई है. सुरजेवाला ने कहा कि न तो कांग्रेस न तो राहुल गांधी ने कभी कैंब्रिज एनालिटिक कंपनी की सेवाएं ली.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बीजेपी की तरफ से झूठ फैलाया जा रहा है. सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि 2010 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी और जेडीयू ने इस वेबसाइट की सेवाएं ली थी. कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि ओवलेनी बिज़नेस इंटेलिजेंस(ओबीआई) बीजेपी के सांसद के बेटे चला रहे थे जिसकी सेवाएं 2009 में राजनाथ सिंह ने ली थी.

इससे पहले केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कैंब्रिज एनालिटिका केस में कांग्रेस को घेरा है. उन्होंने कहा कि फेसबुक द्वारा अवांछनीय तरीके से भारत की चुनावी प्रक्रिया को प्रभावित करने के किसी भी प्रयास को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

जरूरत पड़ी तो फेसबुक जैसे सोशल मीडिया मंचों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. सरकार पूरी तरह से मीडिया, बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और साथ ही सोशल मीडिया पर विचारों के आदान- प्रदान का समर्थन करती है. बता दें कि कैंब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक के 5 करोड़ सदस्यों से जुड़ी जानकारियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगा है.