नई दिल्ली: देश में फेक न्यूज को लेकर काफी काम किया जा रहा है. ऐसे में जब देश में कोरोना महामारी फैली हुई है तो फेक न्यूज जैसी महामारी भी कहां पीछे रहने वाली है. ऐसे में देश के प्रमुख चैनल Zee News के नाम पर फेक खबरें भी फैलाई जा रही हैं. हालांकि यह पहली बार नहीं है जब किसी फेक न्यूज को बढ़ाने के लिए Zee News के नाम का सहारा लिया गया है. जी न्यूज के नाम से फैलाई जा रही झूठी खबरों का मकसद न्यूज चैनल को बदनाम करना है. Also Read - ‘प्रधानमंत्री मोदी के खोदे आर्थिक गड्ढे’ से गरीबों को बाहर निकाल रहा है मनरेगा: राहुल गांधी

बता दें कि सोशल मीडिया Zee News के नाम से एक झूठी खबर को फैलाया जा रहा है. इस मैसेज में लोगों को यह बताया जा रहा है कि Zee News के मुताबिक ’15 जून के बाद से फिर हो सकता है पूर्ण लॉकडाउन. गृह मंत्रालय ने दिए संकेत, ट्रेन और हवाई सफर पर लगेगा ब्रेक.’ बता दें कि सोशल मीडिया पर एक स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है. इसमें जी न्यूज टीवी चैनल को दिखाया जा रहा है. इसी स्क्रीनशॉट में यह बताया जा रहा है कि 15 जून के बाद लॉकडाउन फिर लगाया जा सकता है. Also Read - Lockdown in Bihar Rural Areas: 16 दिनों के लिए लागू हुआ लॉकडाउन, यहां जानें शहरी और ग्रामीण इलाकों के लिए तय नियम

इस बाबत Zee News की मानें तो चैनल ने इस तरह की किसी खबर को न ही टीवी पर प्रसारित किया है और न ही ब्रेकिंग न्यूज चलाई है. चैनल का इस मामले पर कहना है कि फेक खबरों को शेयर कर Zee News की छवि को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. न्यूज चैनल ने बताया कि जी न्यूज के नाम पर शेयर की जा रही तस्वीर पूरी तरह से फर्जी है और उसमें फोटोशॉप का इस्तेमाल किया गया है. इसके जरिए एडिटिंग कर जी न्यूज के खिलाफ फर्जी खबर को फैलाया जा रहा है. Also Read - इस राज्य में 10 अगस्त तक लागू किया गया जनता कर्फ्यू, घर से निकलने की नहीं मिलेगी अनुमति

बता दें कि Zee News देश के सर्वश्रेष्ठ न्यूज चैनलों में से एक है. साथ ही देश का पहला निजी न्यूज चैनल होने का गौरव भी जी न्यूज को प्राप्त है. इस कारण Zee News ने अपने पाठकों से अपील की कि किसी तरह की झूठी खबरों पर ध्यान न दें. साथ ही जी न्यूज के खिलाफ फैलाई जा रही खबर का मकसद Zee News की छवि को खराब करना है. यह खबर पूरी तरीके से आधारहीन है. कंपनी ने कहा कि ऐसी खबरों पर यकीन न करें. Zee News इस तरह की फर्जी खबर फैलानें वाले असामाजिक तत्वों का पता लगा रहा है. जल्द ही इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.