नई दिल्ली: हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के बाद से ही प्रदेश में सनसनी का माहौल पैदा हो गया है. हत्या में शामिल 3 आरोपियों को पुलिस ने शनिवार को सूरत से गिरफ्तार कर लिया है. इसी के साथ ही लखनऊ में आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कमलेश तिवारी की पत्नी किरन तिवारी से मिले. इस दौरान उन्होंने डीजीपी ओपी सिंह को तलब किया. मुख्यमंत्री ने कमलेश तिवारी के परिवार के सामने ही ओपी सिंह से कमलेश तिवारी की हत्या की जांच की प्रगति का ब्यौरा भी लिया है. इसके साथ ही उनको हत्यारों को जल्दी ही पकडने का निर्देश दिया. रविवार को पीड़ित परिवार ने सीएम योगी से उनके सरकारी आवास में मुलाकात की.

पहले सीएम को मिली धमकी अब पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की तस्वीर लेते पकड़े गए दो लोग, ATS ने उठाया यह कदम

बता दें कि मृतक कमलेश तिवारी के परिवारजनों ने सीएम योगी से लखनऊ में उनकी प्रतिमा लगाने की मांग कर रहा है. इसी के साथ ही परिवारजनों ने 11 मांगों का एक पत्र योगी आदित्यनाथ को सौंपा है. इसके अलावा मृतक के परिवार ने खुर्शीद बाग का नाम बदलकर कमलेश बाग रखने की मांग की है. पीड़ित परिवार ने योगी आदित्यनाथ से अपराधियों को कठोर सजा और कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है.

शनिवार को कमलेश तिवारी के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया लेकिन इसके लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी. तिवारी की शुक्रवार को उनके घर में ही गला रेत कर हत्या कर दी गई थी. जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारी परिजनों से शव का अंतिम संस्कार करने के लिए कहते रहे, लेकिन परिवार मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़ा रहा. लखनऊ मंडल के आयुक्त मुकेश मेश्राम और सीतापुर के डीएम अखिलेश तिवारी की ओर से लिखित आश्वासन के बाद परिवार शनिवार को अंतिम संस्कार करने पर राजी हुआ.