नई दिल्‍ली: देश की राजधानी दिल्‍ली में लुटेरों के इतने हौसले बुलंद है कि वे लोगों के घरों की पार्किंग में ही जाकर लूट की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. लोगों को जहां अपने घरों से बाहर जाने पर लूट का भय सताता है, तो ये वीडियो देखकर उन्‍हें अपने घर पर भी लूट का और डर लगने लगेगा. क्‍या आप कभी सोचते हैं कि बाहर से रात में घूमकर लौटें तो घर की पार्किंग में लूट के शिकार हो सकते हैं. जी हां, राजधानी के मॉडल टाउन इलाके में हुई इस खौफनाक वारदात का वीडियो सामने आया है, क्‍योंकि सारी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई.  लूट-पाट कर जब ये तीनों हमलावर भाग रहे थे तब पुलिस ने उन्हें घेर लिया. पुलिस से घिर जाने पर उन्होंने गश्ती दल पर गोलियां चलाईं. पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की. लेकिन हमलावर वहां से भागन में सफल हो गए. उन्हें ढूढने में पुलिस जुटी हुई है.

ये वीडियो रविवार की देर रात यानि सोमवार अलसुबह तीन बजे का है. राजधानी के मॉडल टाउन इलाके का एक परिवार संडे को कार से बाहर घूमने गया हुआ था. ये फैमिली (रविवार-सोमवार की दरम्‍यानी रात) देर रात तीन बजे वापस घर लौटी. पति जब पार्किंग में कार खड़ी करने लगा तो उसे लगा कि कोई यहां और भी है. उसने कार को पा‍र्किंग में खड़ी की और पत्‍नी कार में ही बैठी रही. पति जैसे ही कार से उतरकर पीछे तरफ देखने गया तो तीन नकाबपोश हथियार लिए हुए सामने आ गए. इन लुटेरों ने उसे गनप्‍वाइंट की नोट पर डराया धमकाया और लूटपाट की.

लुटेरों ने कार में बैठी महिला की तरफ की खिड़की से दो बार कीमती सामान लूटने के लिए तलाशी ली. लूटपाट की इस वारदात को अंजाम देने के बाद लुटेरे फरार हो गए. ये सारी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. लूट-पाट कर जब ये तीनों हमलावर भाग रहे थे तब पुलिस ने उन्हें घेर लिया. पुलिस से घिर जाने पर उन्होंने गश्ती दल पर गोलियां चलाई. पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की. लेकिन हमलावर वहां से भागन में सफल हो गए. उन्हें ढूढने में पुलिस जुटी हुई है.

पुलिस के अनुसार सीसीटीवी फुटेज के अनुसार शनिवार की रात को वरुण बहल अपनी पत्नी और बच्चों के साथ कार से घर लौटे और गाड़ी खड़ी कर जब वह मैनगेट के पास जा रहे थे, तब अचानक तीन नकाबपोश व्यक्ति वहां आ गए और उन्होंने उनलोगों को बंदूक का भय दिखाया.

उन्होंने वरुण का बटुआ ले लिया, जिसमें 19000 रुपए नकद और सोने का ब्रेसलेट था. तीसरे नकापोश व्यक्ति ने उनकी पत्नी का मोबाइल छीन लिया जो बच्चों के साथ गाड़ी में बैठी थी.

पुलिस उपायुक्त (पश्चिमोत्तर) विजयंत आर्य ने बताया कि वरूण ने तत्काल पुलिस को इस घटना की जानकारी नहीं दी. लेकिन आसपास ही खड़ी आदर्श नगर थाने की गश्ती पार्टी को तीनों व्यक्तियों की गतिविधियां संदिग्ध लगीं और उसने उसका पीछा किया. दोनों पक्षों के बीच मुठभेड़ हुई और तीनों हमलावर भागने में कामयाब हो गए.

आर्य के अनुसार वरूण ने रविवार दोपहर को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों की धरपकड़ की कोशिश की जा रही है.