नई दिल्ली: कृषि अध्यादेश विधेयकों के मुद्दे पर आम आदमी पार्टी (आप) किसानों के साथ दिल्ली सहित देश के अन्य हिस्सों में प्रदर्शन करेगी. इसके साथ ही पार्टी ने पंजाब में 25 सितंबर को किसानों द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन को समर्थन देने और इसमें शामिल होने का ऐलान किया है. आप के पंजाब प्रभारी व दिल्ली के विधायक जनरैल सिंह ने कहा कि किसानों द्वारा इस बिल का विरोध किया जा रहा है. जितने भी विरोध देशभर में हो रहे हैं, आम आदमी पार्टी किसानों के उन विरोध प्रदर्शनों का समर्थन करती है. खास तौर पर पंजाब में 25 सितंबर को होने वाले विरोध में आप के सभी नेता और कार्यकर्ता किसानों के साथ प्रदर्शन में शामिल होंगे. किसान किसी भी सूरत में इस बिल को लागू नहीं होने देना चाहते.Also Read - Punjab ke CM: बंटवारे के बाद पंजाब को बसाने के लिए जाने जाते थे दूसरे मुख्यमंत्री प्रताप सिंह कैरों

इससे पहले, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी विधेयक का विरोध किया. उन्होंने सभी गैर-भाजपा दलों से राज्यसभा के अंदर इस बिल के विरोध में मतदान करने की अपील की थी. हालांकि रविवार को राज्यसभा में यह बिल ध्वनि मत से पारित हो गया. Also Read - Punjab Opinion Poll: दोआब में शिरोमणि अकाली दल बन सकता है सबसे बड़ी पार्टी, AAP को 3-4 सीटें मिलने का अनुमान

केजरीवाल ने रविवार को कहा, “केंद्र के तीनों विधेयक किसानों को बड़ी कंपनियों के हाथों शोषण के लिए छोड़ देंगे. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि यह बिल खेती को प्राइवेट सेक्टर के हाथों में देने के लिए लाया गया है, जिससे गेहूं और धान का एमएसपी खत्म हो जाएगा.” Also Read - Punjab Opinion Poll: मालवा क्षेत्र में AAP सबसे बड़ी पार्टी, कांग्रेस को नुकसान होने का अनुमान