Punjab Farmers Protest: किसान बिल का विरोध कर रहे पंजाब में किसान आज से फिर रेल ट्रैकों पर जमे हुए हैं. उनके धरना-प्रदर्शन से राज्‍य में ट्रेनों का आवागमन ठप हो गया है और इससे यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है. राज्‍य में आज से किसानों ने अनिश्चितकालीन रेल रोकोआंदोलन शुरू किया है. आज सुबह से ही  किसान रेल ट्रैकों पर जम गए हैं.दूसरी ओर, कांग्रेस, शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी के नेता व कार्यकर्ता भी केिसानाें के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं. Also Read - 42 हमलों की FIR दर्ज कराई थी, फिर भी सुरक्षा हटाई गई, बलवंत सिंह की फैमिली का सरकार-प्रशासन पर सवाल

अमृतसर के जंडियाला गुरु क्षेत्र के गांव देवीदासपुरा में किसानों द्वारा रेलवे ट्रैक पर लगातार दिए जा रहा धरना आज आठवें दिन भी जारी है.आज किसानों ने अंबानी और अडानी कॉरपोरेट घरानों का पुतला जलाया और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. Also Read - पंजाब: शौर्य चक्र से सम्मानित बलविंदर की गोली मार कर हत्या, सरकार ने कुछ समय पहले ही वापस ली थी सुरक्षा

किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि सभी लोगों को चाहिए कि वे कॉरपोरेट घरानों का बहिष्‍कार करें. लोग हरेक चौक-चौराहे पर इनके पुतले फूंकें और छोटी-छोटी दुकानों को बढ़ावा दें. किसान अब कॉरपोरेट घरानों के शॉपिंग मॉल्स, गोदाम, पेट्रोल पंप और अन्य संस्थानों के आगे धरने देंगे. Also Read - SC ने पराली जलाने पर रोक के लिए Retd Justice की अगुवाई में पैनल का गठन किया, SG ने विरोध किया

बता दें कि किसानों के आंदोलन के कारण पंजाब से चलने वाली 14 यात्री ट्रेनें फिलहाल बंद हैं. इनमें से कई ट्रेनें अंबाला से आंशिक रूप से चलाई जा रही हैं. किसानों ने अनिश्चितकाल के लिए रेल ट्रैकों पर बैठने की घोषणा कर दी है, इससे जाहिर है कि रेल यात्रियों की परेशानी भी अनिश्चितकाल के लिए जारी रहेगी.

फिरोजपुर मंडल रेलवे के सीनियर डीओएम सुधीर कुमार ने बताया कि किसानों के आंदोलन से मालगाडिय़ां प्रभावित नहीं हुई हैं. खाद्यान्न व अन्य आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई पहले की तरह ही हो रही हैं. फिरोजपुर, अमृतसर व जालंधर से चलने वाली यात्री गाडिय़ों को अंबाला, दिल्ली आदि स्टेशनों से आंशिक रूप से चलाया जा रहा है. जैसे ही किसान रेलवे ट्रैक से हटेंगे, वैसे ही पंजाब के स्टेशनों से यात्री ट्रेनों का आवागमन शुरू हो जाएगा.