तिरुवंतपुरम: कांग्रेस नेता और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि एक या दो कॉपोर्रेट देश को नियंत्रित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है. राहुल गांधी ने कहा कि कृषि कानूनों पर किसानों को स्पष्ट तस्वीर नहीं मिली है और आंदोलन फिर से भड़क सकता है. वो वायनाड में एक सार्वजनिक समारोह में बोल रहे थे. पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस और यूडीएफ केरल में आगामी विधानसभा चुनाव में भारी जीत हासिल करेगी. उन्होंने कहा कि कई नए चेहरे इस बार मैदान में उतरेंगे.Also Read - शादी के कार्ड पर किसान आंदोलन की झलक, दूल्हे ने लिखवाया- जंग अभी जारी है, MSP की बारी है

राहुल गांधी पिछले कुछ दिनों से केरल के दौरे पर हैं. उन्होंने बुधवार को छात्राओं के साथ बातचीत की थी और एक छात्रा से उनके भाषण को अनुवाद करने के लिए भी कहा था. उन्होंने छात्राओं से स्वतंत्र होने और लड़कों के बराबर होने की बात कही और उन्हें जीवन के सभी क्षेत्रों में सक्रिय रहने के लिए भी कहा. Also Read - UP Assembly Election 2022: प्रियंका गांधी होंगी यूपी में कांग्रेस का सीएम फेस, कहा-कोई और दिखता है क्या

राहुल गांधी ने सीटों के बंटवारे को लेकर राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं और सहयोगी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के साथ बातचीत की. वह इस बात को लेकर काफी गंभीर हैं कि अगले विधानसभा चुनाव में बड़ी संख्या में महिलाएं और युवा चुनाव लड़ें. Also Read - UP Assembly Election 2022: राहुल-प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणापत्र, सरकारी नौकरियों की गारंटी, करेंगे बंपर शिक्षक भर्ती, जानिए

हाल ही में संपन्न केरल स्थानीय निकाय चुनावों के बाद कांग्रेस और यूडीएफ बैकफुट पर है. सत्तारूढ़ एलडीएफ ने चुनावों में भारी जीत दर्ज की. कांग्रेस अब पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता ओमन चांडी को चुनाव पर्यवेक्षक समिति के अध्यक्ष के रूप में और लोकसभा सांसद शशि थरूर को चुनाव घोषणापत्र समिति में एक सदस्य के रूप में लाना चाहती है.

प्रदेश कांग्रेस को उम्मीद है कि 2021 के विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी स्टार प्रचारक के रूप में यहां आएंगे. चुनाव अप्रैल के मध्य में होने की संभावना है और कांग्रेस एलडीएफ से सत्ता हासिल करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है.