Farmers protest: आंदोलनकारी किसानों को ‘गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड’ के लिए दिल्ली पुलिस से आधिकारिक रूप से अनुमति मिल गई है. ये जानकारी स्वाराज्य इंडिया के योगेंद्र यादव ने दी. दिल्ली पुलिस के साथ मीटिंग के बाद योगेंद्र यादव ने कहा कि किसानों को दिल्ली पुलिस की तरफ से आधिकारिक रूप से 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने की इजाजत मिल गई है. Also Read - किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे, हरियाणा में किसानों ने ब्लॉक किया एक्सप्रेसवे; कृषि मंत्री बोले- सरकार कानूनों में संशोधन के लिए तैयार

साथ ही उन्होंने अपील करते हुए कहा, “जितने भी साथी अपनी ट्रोलियां लेकर बैठें है. मैं उनसे अपील करता हूं कि सिर्फ ट्रैक्टर दिल्ली के अंदर लेकर आएं, ट्रोलियां न लेकर आएं.” Also Read - भारतीय किसान यूनियन का ऐलान- 13 मार्च को किसान-मजदूर रेलवे ट्रैक करेंगे जाम, आंदोलन होगा तेज

वहीं ट्रैक्टर रैली पर दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर ने कहा कि आज किसानों से अच्छा संवाद रहा. दिल्ली के तीन जगहों से ट्रैक्टर रैली की इजाजत है. इन तीनों बॉर्डर पर बैरिकेड हटाए जाएंगे. कुछ शर्तों के साथ ये इजाजत दी गई है. इस रैली में गड़बड़ी को लेकर भी इनपुट मिले हैं. कुछ पाकिस्तान के ट्विटर हैंडर पर हमारी नजरें हैं. Also Read - Farmers Protest 100 days: किसानों द्वारा बंद हाईवे खुला, 5 घंटे बाद राहगीरों ने ली राहत की सांस

कमिश्नर ने कहा, “किसानों के साथ सभी बिंदुओं पर बात हुई है. पूरे सम्मान के साथ ट्रैक्टर रैली की हमारी कोशिश है. ट्रैक्टर रैली में गड़बड़ी को लेकर पाकिस्तान से ट्विटर हैंडल चलाए जा रहे हैं. ऐसे 308 ट्विटर हैंडल की जानकारी मिली है.” दिल्ली पुलिस ने बताया कि किसानों की प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड को बाधित करने के लिए पाकिस्तान से 13 से 18 जनवरी तक 300 से अधिक ट्विटर हैंडल बनाए गए.

पुलिस ने कहा कि किसानों की प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड मंगलवार को गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न होने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू होगी.

गाज़ीपुर बॉर्डर (दिल्ली-यूपी) से भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, “ट्रैक्टर रैली को लेकर हम यहां से अक्षरधाम जाएंगे, अक्षरधाम से वापस आएंगे और फिर आनंद विहार होकर निकल जाएंगे. ये 46 किलोमीटर का रूट है. पुलिस हमारे साथ रहेगी.”

इससे पहले भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने शनिवार को कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली में होने वाली किसान परेड में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से लगभग 25,000 ट्रैक्टर हिस्सा लेंगे. उन्होंने आरोप लगाया कि दोनों प्रदेशों से निकलकर यूपी गेट की ओर बढ़ रही ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को विभिन्न जिलों में पुलिस द्वारा रोका गया लेकिन किसान हर कीमत पर यहां पहुंचेंगे.

टिकैत ने एक बयान में कहा, ‘ करीब 25,000 ट्रैक्टर यहां पहुंचेंगे और गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड निकाली जाएगी. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिलों के साथ ही अन्य जिलों में भी किसान ट्रैक्टर रैली निकालेंगे.’ बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा, ‘ किसी भी राजनीतिक व्यक्ति को इसमें हिस्सा लेने की अनुमति नहीं होगी.’