अमेठीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अपने निर्वाचन क्षेत्र अमेठी के दौरे के दौरान किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा है. अमेठी के गौरीगंज में विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों ने मांग की कि राजीव गांधी फाउंडेशन के लिए ली गई उनकी जमीन या तो वापस दी जाए या फिर उन्हें उसमें नौकरी दी जाए. राहुल गांधी बुधवार को लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अमेठी के दौरे पर थे.

विरोध कर रहे एक किसान संजय सिंह ने कहा कि हम राहुल गांधी से बहुत नाराज हैं. उन्हें इटली चले जाना चाहिए. वह यहां रहने के लायक नहीं है. राहुल गांधी ने हमारी जमीन हड़प ली है. किसानों ने सम्राट साइकिल फैक्ट्री के पास विरोध प्रदर्शन किया. इस फैक्ट्री का उद्घाटन पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने किया था. यहीं से राजीव गांधी लोकसभा के लिए चुने गए थे. 1980 के दशक में जैन बंधुओं ने कौसर इलाके के औद्योगिक क्षेत्र में इस फैक्ट्री के लिए 65.57 एकड़ जमीन ली थी, लेकिन बाद में फैक्ट्री बंद हो गई तो 2014 में इस जमीन को नीलाम कर दिया गया.

रिकॉर्ड के मुताबिक उत्तर प्रदेश राज्य अद्योगिक विकास निगम (UPSIDC) ने 65.57 एकड़ जमीन 1986 में एक कंपनी को लीज पर दी थी, लेकिन जब कंपनी बंद हो गई तो कर्ज वसूली ट्रिब्यूनल ने इस जमीन को 20.10 करोड़ रुपये में नीलाम कर दिया. नीलामी में इस जमीन को राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट ने लिया था जिस पर 1.50 लाख रुपये की स्टैप ड्यूटी दी गई. लेकिन बाद में UPSIDC ने इस जमीन के अधिग्रहण को अवैध करार दिया, उसके बाद गौरीगंज के एसडीएम ने इसे सम्राट साइकिल फैक्ट्री को लौटाने का आदेश दिया. तब से यह जमीन कागजों पर UPSIDC के पास है लेकिन अब भी इस पर कब्जा राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट का है. इससे पहले भी भाजपा की नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर फाउंडेशन के जरिए किसानों की जमीन हड़पने का आरोप लगाया था.

(इनपुट-एएनआई)