नई दिल्ली: किसानों ने आंदोलन और तेज करने के लिए एक और बड़ा ऐलान किया है. किसान 13 मार्च को देश भर में रेलवे ट्रैक जाम करेंगे. किसान नेता दर्शन पाल सिंह ने कहा कि कॉरपोरेटाइजेशन और निजीकरण के खिलाफ 13 मार्च को राष्ट्रव्यापी आंदोलन किया जाएगा, जिसमें किसान और मजदूर रेलवे लाइनों को जाम करेंगे और वहीं पर आंदोलन करेंगे. भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के प्रवक्ता पाल ने कहा, “यह चल रहे विरोध को तेज करने के लिए हमारा अगला कदम है.” Also Read - अनिल विज ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को लिखा पत्र, 'प्रदर्शनकारी किसानों से बातचीत फिर शुरू करें'

पाल कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे में मौजूद थे, जिसे शनिवार को हजारों किसानों द्वारा तीन नए कृषि कानून के विरोध में अवरुद्ध किया गया था. पाल ने इंटरनेट शटडॉउन, सरकार की सख्ती इत्यादि मुद्दे पर कहा, “हम क्या कर सकते हैं अगर ऐसी चीजें हमारे साथ होती हैं. हम केवल इस बाबत एहतियात बरत सकते हैं कि कोई विरोधी तत्व हमारे आंदोलन को घुसपैठ नहीं करे.” Also Read - Farmers Protest: 10 अप्रैल को केएमपी एक्सप्रेस-वे 24 घंटे के लिए बंद रखेंगे किसान, लोगों संग अच्छे व्यवहार का वादा

किसानों के आंदोलन के 100 वें दिन किसानों ने 135 किमी लंबे केएमपी एक्सप्रेसवे को सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक अवरुद्ध कर दिया. हालांकि यह प्रदर्शन शांतिपूर्वक समाप्त हो गया. Also Read - मैंने गलती की मगर हर गलती अपराध नहीं- कोर्ट में बोला लाल किला हिंसा का आरोपी दीप सिद्धू