नई दिल्ली: कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन दिल्ली सीमा पर जारी है. हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मामले की जांच और सुझाव के लिए एक कमेटी की स्थापना सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई है. बावजूद इसके किसान आंदोलन को खत्म करने पर राजी नहीं है, उनका कहना है कि सरकार जबतक उनकी मांगों को नहीं मानती तब तक आंदोलन जारी रहेगा. इसी बीच किसान यूनियनों और सरकार के बीच आज 9वें दौर की बैठक दोपहर 12 बजे विज्ञान भवन में आयोजित की जाएगी.Also Read - शादी के कार्ड पर किसान आंदोलन की झलक, दूल्हे ने लिखवाया- जंग अभी जारी है, MSP की बारी है

विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं का कहना है कि वे सरकार के साथ 9वें दौर की बैठक में भाग लेंगे. लेकिन इस बैठक से उन्हें ज्यादा कुछ उम्मीदे नहीं हैं. क्योंकि वे तब तक नहीं मानेंगे जब तक इस कानून को वापस न ले लिया जाए. हालांकि सुप्रीम कोर्ट इस मामले के समाधान के लिए एक कमेटी का गठन पहले ही कर चुकी है. इस कमेटी की पहली बैठक 19 जनवरी को होने की संभावना है. संभावना जताई जा रही है कि आज किसान यूनियनों और सरकार के बीच होने वाली आज की वार्ता अंतिम हो सकती है. Also Read - BJP सांसद की किरकिरी, किसानों से ताली बजाने को कहा, सुनने को मिला इनकार

बता दें कि इससे पहले किसान यूनियनों और सरकार के बीच 8 दौर की वार्ता हो चुकी है, जिसमें एक बैठक के बाद सरकार की तरफ से किसानों को थोड़ी राहत दी गई थी. लेकिन किसान इस कानून को पूरी तरह से रद्द करवाने को लेकर अपना प्रदर्शन जारी रखे हुए हैं. शुक्रवार को 9वें दौर की बैठक विज्ञान भवन में दोपहर 12 बजे आयोजित की जाएगी. Also Read - Rakesh Tikait ने क्यों कहा- खत्म नहीं हुआ है किसानों का आंदोलन? जानें 26 जनवरी का क्या है 'प्लान'