Farmers Protest: नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन को दो महीने बीत चके हैं. किसानों की मांग है कि इन कानूनों को वापस लिया जाए. इसी कड़ी में 26 जनवरी को किसान दिल्ली में टैक्टर रैली निकालने की तैयारी में हैं. लेकिन अब कंफ्यूजन की स्थिति पैदा हो चुकी है. क्योंकि किसानों का कहना है कि दिल्ली में ट्रैक्टर रैली को तो इजाजत दे दी गई है, लेकिन दिल्ली पुलिस का कहना है कि अबतक ट्रैक्टर रैली की इजाजत किसानों को नहीं दी गई है.Also Read - Traffic advisory Republic Day Parade 2022: गणतंत्र दिवस परेड रिहर्सल को लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी जारी, दिल्ली के इन रास्तों पर आवाजाही रहेगी बंद

दिल्ली पुलिस का कहना है कि 26 जनवरी के अवसर पर आयोजित परेड के बाद ही टैक्टर रैली निकाली जा सकेगी और उसे अनुमति दी जाएगी. दिल्ली पुलिस का कहना है कि अगर किसान लिखित में दें कि वे गणतंत्र दिवस की परेड के बाद रैली निकालेंगे तो इसे अनुमति दी जा सकती है. साथ ही लिखित रुट की भी जानकारी दी जानी है. Also Read - गाजीपुर फूल मंडी में IED मिलने के मामले में केस दर्ज, दिल्ली पुलिस ने कहा- आतंकी घटना लगती है

बता दें कि दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच बातचीत अपने अंतिम दौर में है, हालांकि अभी तक किसानों को ट्रैक्टर मार्च की अनुमति नहीं दी गई है. किसानों का कहना है कि हम अलग अलग 5 रूटों से शांतिपूर्वक परेड निकालेंगे. किसान नेता दर्शन पाल का कहना है कि परेड करीब 100 किमी तक चलेगी. Also Read - Delhi Police Corona Positive: पुलिसकर्मियों पर फिर कोरोना की मार, दिल्ली पुलिस के 1000 से ज्यादा कर्मी हुए संक्रमित

पाल का कहना कि इस परेड में जितना भी समय लगे वह हमें दिया जाएगा. इस परेड को दुनिया देखेगी, यह परेड ऐतिहासिक होगी. बता दें कि किसानों और सरकार के बीच चल रहे गतिरोध को कम करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक कमेटी भी गठित की गई. ऐसा माना जा रहा है कि 24 जनवरी यानी आज किसान मीटिंग कर अपना रूटमैप दिल्ली पुलिस को दे सकते हैं.