Haryana: Police use water cannon & tear-gas shells in Karnal to disperse farmers from Punjab heading towards Delhi: हरियाणा पुलिस Haryana: Police ने गुरुवार दोपहर बाद भी पंजाब के किसानों को करनाल में तितर-बितर करने के लिए वॉटर कैनन की पानी की बौछारों और आंसू गैस का इस्तेमाल किया. ये किसान केंद्र सरकार के बनाए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत हरियाणा में आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे थे.Also Read - Delhi News:वसंत विहार में घर से मिले तीन शव, सुसाइड की आशंका, पुलिस जांच में सामने आई चौंकाने वाली जानकारी

हरियाणा पुल‍िस ने पंजाब से दिल्ली की ओर जाने वाले किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने करनाल में वाटर कैनन और आंसू-गैस के गोले दागे. दिल्ली-करनाल हाईवे (Delhi-Karnal Highway) पर सुरक्षा और अधिक बढ़ा दी गई, क्योंकि किसानों ने बैरिकेड्स तोड़कर दिल्ली की ओर जाने की कोशिश कर अपना विरोध तेज कर दिया. Also Read - Delhi Fire: फर्नीचर गोदाम में लगी भयंकर आग, 11 फायर टेंडर बुझाने के ऑपरेशन में जुटीं

Also Read - देश के उत्तर-पश्चिम हिस्सों में अगले भीषण गर्मी से तीन दिन तक राहत का अनुमान, बारिश होगी, घटेगा तापमान

इससे पहले  भी किसानों पर पुलिस ने की पानी की बौछार, आंसू गैस के गोले भी छोड़े
हरियाणा पुलिस ने बृहस्पतिवार को पंजाब के किसानों के एक समूह को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस का इस्तेमाल किया. ये किसान पुलिस अवरोधक लांघ कर हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे. पंजाब के साथ लगी शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर हरियाणा पुलिस के अधिकारियों ने ‘लाउड स्पीकर’ का इस्तेमाल किया और किसानों को पंजाब की रहने को कहा. उनमें से कुछ अवरोधक लांघने की कोशिश कर रहे थे.

शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण
राष्ट्रीय राजमार्ग पर शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, जहां किसानों ने घग्गर नदी में पुलिस बैरिकेड को फेंक दिया. कई किसान हाथ में काले झंडे लिए भी नजर आए. राष्ट्रीय राजधानी की ओर बढ़ रहे किसानों को रोकने के लिए हरियाणा पुलिस ने कई अवरोधक लगाएं हैं.

मोहरा गांव में भी किसानों के एक समूह ने अवरोधक लांघने की कोशिश की
इससे पहले अंबाला के मोहरा गांव में भी किसानों के एक समूह ने अवरोधक लांघने की कोशिश की थी और वहां भी पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए पानी की बौछार की थी. हरियाणा ने बृहस्पतिवार को पंजाब से लगी अपनी सभी सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया है.

हरियाणा सरकार ने पहले ही सीमाओं को बंद करने की घोषणा की थी
हरियाणा में भाजपा सरकार ने पहले ही कहा था कि वह किसानों के दिल्ली की ओर जुलूस निकालने के मद्देनजर 26 और 27 नवंबर को पंजाब से लगी अपनी सीमाओं को बंद कर देगी. वहीं, दिल्ली पुलिस ने बुधवार को कहा था कि उसने केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में प्रदर्शन के लिए विभिन्न किसान संगठनों से मिले सभी अनुरोधों को खारिज कर दिया है. पुलिस ने कहा था कि कोविड-19 महामारी के बीच किसी प्रकार का जमावड़ा करने के लिए शहर आने पर प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.