Farmers Protest Latest Update: किसान आंदोलन अभी खत्म होगा या नहीं, इसकी भावी रूपरेखा तय करने के लिए आज यानी शनिवार को 11 बजे दिल्ली के सिंघु बार्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) की अहम बैठक होनेवाली है. इस बैठक में किसान आंदोलन के आगे की कार्ययोजना को लेकर फैसला होगा कि इसे खत्म किया जाए या नहीं. हालांकि, भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (BKU leader Rakesh Tikait ) की बातों से यह संकेत मिल रहे हैं कि किसानों का आंदोलन अभी चलता रहेगा.Also Read - कैबिनेट ने 2022 सीजन के लिए नारियल गरी पर दी एमएसपी में बढ़ोतरी को मंजूरी

किसान नेता राकेश टिकैत ने सिंघु बार्डर बार्डर पर होने वाली बैठक से पहले कहा है कि आज बैठक में किसान आंदोलन आगे कैसे बढ़ेगा और सरकार बातचीत करेगी तो कैसे बातचीत करनी है, इस पर चर्चा की जाएगी. Also Read - Traffic opens at Ghazipur Border: एक साल बाद खुल गया दिल्ली का गाजीपुर बॉर्डर, फर्राटा भर रही गाड़ियां | देखें Video

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि एमएसपी की हमारी मांग भारत सरकार से है. बातचीत अभी शुरू हुई है, हम देखेंगे कि यह कैसे चलता है. राकेश टिकैत ने कहा है कि हम आज की बैठक में कोई रणनीति विकसित नहीं करेंगे, हम केवल चर्चा करेंगे कि आंदोलन कैसे आगे बढ़ता है. Also Read - Rakesh Tikait बोले चुनाव नहीं लड़ रहा हूं, कोई भी पार्टी मेरे नाम और फोटो का इस्तेमाल न करे

उन्होंने आगे कहा कि कल हरियाणा के मुख्यमंत्री और किसानों के बीच बातचीत बेनतीजा रही, हालांकि वे किसानों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस लेने के लिए सहमत हो गए हैं. पंजाब की तरह हमें किसानों की मौत और रोजगार के लिए राज्यवार मुआवजे की जरूरत है.

बता दें कि इससे पहले बैठक को लेकर किसान नेताओं ने कहा है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर समिति गठन के वास्ते केंद्र को पांच नाम भेजे जाएं या नहीं-इस पर कोई भी फैसला इस बैठक में किया जाएगा क्योंकि उन्हें सरकार से कोई औपचारिक संदेश नहीं प्राप्त हुआ है. इस बैठक में प्रदर्शनकारी किसानों की लंबित मांगों पर चर्चा होगी जिनमें फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानूनी गारंटी, किसानों पर दर्ज मामलों की वापसी, आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों के लिए मुआवजा आदि शामिल हैं.