Farmers Protest Latest Update: भाjरतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने शनिवार को केन्द्र सरकार से कहा कि वह खुद किसानों को बताये कि वह कृषि कानूनों को वापस क्यों नहीं लेना चाहती और ‘‘हम वादा करते हैं कि सरकार का सिर दुनिया के सामने झुकने नहीं देंगे.’’ट्रैक्टर परेड में हिंसा के कारण किसान आंदोलन के कमजोर पड़ने के बाद एक बार फिर जोर पकड़ने के बीच टिकैत ने सरकार से कहा, ‘‘सरकार की ऐसी क्या मजबूरी है कि वह नये कृषि कानूनों को निरस्त नहीं करने पर अड़ी हुई है?’Also Read - भारतीय किसान यूनियन में हुए दो फाड़: भाकियू (अराजनीतिक) के नाम से अलग गुट बना

’उन्होंने कहा, ‘‘सरकार किसानों को अपनी बात बता सकती है,हम (किसान) ऐसे लोग हैं जो पंचायती राज में विश्वास करते हैं. हम कभी भी दुनिया के सामने सरकार का सिर शर्म से नहीं झुकने देंगे. ’टिकैत ने कहा, ‘‘सरकार के साथ हमारी विचारधारा की लड़ाई है और यह लड़ाई लाठी/डंडों, बंदूक से नहीं लड़ी जा सकती और ना ही उसके द्वारा इसे दबाया जा सकता है. किसान तभी घर लौटेंगे जब नये कानून वापस ले लिए जाएंगे. Also Read - लखीमपुर खीरी केस: आशीष मिश्रा की जमानत पर नेताओं ने दी प्रतिक्रिया, राकेश टिकैत, ओमप्रकाश राजभर ने कही ये बात

Also Read - देशभर में 11 से 17 अप्रैल तक MSP गारंटी सप्ताह मनाएंगे किसान, संयुक्त किसान मोर्चा करेगा प्रदर्शन