Top Recommended Stories

Farmers’ Republic Day Tractor Rally: किसानों के कई और समूह पंजाब से दिल्ली रवाना, हरियाणा की खापों ने भी कसी कमर; पुलिस ने जारी किया पूरा 'प्लान'

पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर परेड की सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में रविवार को एक परिपत्र जारी किया.

Updated: January 24, 2021 11:24 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Amit Kumar

Farmers’ Republic Day Tractor Rally
Apart from Punjab, thousands of farmers from Haryana on Sunday set out in their tractor-trolleys and other vehicles to take part in the proposed tractor parade. (ANI File photo)

Farmers’ Republic Day Tractor Rally: पंजाब से किसानों के कई और समूह 26 जनवरी को होने वाली ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिये रविवार को दिल्ली रवाना हो गए हैं. इस बीच, हरियाणा की विभिन्न खापों ने भी परेड में हिस्सा लेने के लिये कमर कस ली है.

Also Read:

केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहीं किसान यूनियनों ने कहा था कि वे गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालने के लिये तैयार हैं. उन्होंने दिल्ली के बाहरी रिंग रोड पर ट्रैक्टर परेड निकालने की घोषणा की थी.

एक किसान नेता ने कहा कि अमृतसर से 500 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों का एक समूह दिल्ली के लिये रवाना हुआ है. इसके अलावा फगवाड़ा, होशियारपुर समेत पंजाब के अन्य हिस्सों से किसानों के विभिन्न समूह ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिये राष्ट्रीय राजधानी की ओर निकल पड़े हैं.

अमृतसर में किसान संघर्ष यूनियन के नेता बलदेव सिंह वर्का ने कहा, ‘ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिये आज लगभग 500 ट्रैक्टर-ट्रॉलियां दिल्ली रवाना हुई हैं. प्रत्येक ट्रॉली में 20 लोग बैठ सकते हैं. इनमें 14 घंटे की दिल्ली यात्रा के दौरान लेटने और खाने-पीने का भी प्रबंधन किया गया है.’ उन्होंने कहा कि शनिवार को लगभग 700 ट्रैक्टर-ट्रॉलियां दिल्ली के लिये रवाना हुई थीं.

किसान संघर्ष समिति के प्रवक्ता गुरचरण सिंह छब्बा ने कहा कि अमृतसर और तरण तारण जिलों से अब तक लगभग 12 हजार ट्रैक्टर और ट्रॉलियां दिल्ली के लिये रवाना हो चुकी हैं.

भारतीय किसान यूनियन (दोआबा) के महासचिव सतनाम सिंह साहनी ने कहा कि शुक्रवार और शनिवार को दोआबा से सबसे अधिक ट्रैक्टर दिल्ली के लिये रवाना हुए जबकि रविवार को भी अनेक ट्रैक्टर राष्ट्रीय राजधानी के लिये निकले हैं. उन्होंने कहा कि दोआबा से करीब 10 हजार ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेंगे.

वहीं, हरियाणा की विभिन्न ‘खाप’ भी दिल्ली में ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिये तैयार हैं. इसी के मद्देनजर हजारों खाप सदस्य अपने वाहन लेकर रविवार को दिल्ली के लिये रवाना हो गए. खाप प्रमुख टेकराम कंडेला ने कहा कि कंडेला खाप के तहत आने वाले गांवों से लगभग 1,500 ट्रैक्टर रविवार को दिल्ली के लिये रवाना हो गए. उन्होंने कहा, ‘हमने जींद से शुरूआत की. हम शांतिपूर्ण तथा व्यवस्थित तरीके से आगे बढ़ रहे हैं और परेड के लिये अधिकारियों द्वारा तय किये मार्गों पर चलेंगे.

हरियाणा के दादरी से निर्दलीय विधायक तथा सांगवान खाप के प्रमुख सोमबीर सांगवान ने कहा कि हजारों किसान अपने ट्रैक्टर लेकर दिल्ली की विभिन्न सीमाओं की ओर रवाना हो गए हैं. सांगवान ने कहा कि हरियाणा और आसपास की करीब 200 खापों ने ट्रैक्टर परेड को अपना समर्थन दिया है. उन्होंने कहा कि विभिन्न खाप ट्रैक्टर परेड में भाग लेंगी. वे सक्रिय रूप से इसमें शामिल हैं और किसानों को पूरा समर्थन दे रही हैं.

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने ट्रैक्टर परेड की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर परिपत्र जारी किया

दिल्ली पुलिस के आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने मंगलवार को गणतंत्र दिवस समारोह के बाद प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर परेड की सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में रविवार को एक परिपत्र जारी किया. परिपत्र में कहा गया है कि सभी अधिकारी और कर्मियों के साथ-साथ सीएपीएफ और गणतंत्र दिवस परेड सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात किसी भी अन्य बल को अवगत कराया जाना चाहिए और तैयार रहना चाहिए कि आधिकारिक समारोह के तुरंत बाद उनकी कानून एवं व्यवस्था के लिए आवश्यकता होगी.

इसमें कहा गया है कि पुलिस कर्मियों के लिए दोपहर के भोजन की व्यवस्था की जानी चाहिए और उन्हें उनके संबंधित जोनल/सेक्टर अधिकारियों के तहत ड्यूटी के उनके बिंदुओं पर तैयार रहना चाहिए. परिपत्र में कहा गया है कि अधिकारियों को गणतंत्र दिवस समारोह की व्यवस्था के बाद पर्याप्त आराम सुनिश्चित करना चाहिए और उन्हें मंगलवार को किसान ट्रैक्टर परेड से संबंधित कानून- व्यवस्था के लिए संक्षिप्त सूचना पर चलने के लिए तैयार स्थिति में रहना चाहिए.

रविवार को पुलिस ने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह की समय अवधि समाप्त होने के बाद किसानों की प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड शुरू होगी. पुलिस ने कहा कि ट्रैक्टर परेड दिल्ली के तीन सीमा बिंदुओं – सिंघू, टिकरी और गाजीपुर से आयोजित की जाएगी और इसे पर्याप्त सुरक्षा प्रदान की जाएगी.

मुख्य तौर पर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हजारों किसान तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर पिछले वर्ष नवम्बर से दिल्ली के कई सीमा बिंदुओं पर डेरा डाले हुए हैं. किसानों ने पहले घोषणा की थी कि कृषि कानूनों के खिलाफ अपने विरोध के तौर पर वे गणतंत्र दिवस पर एक शांतिपूर्ण ट्रैक्टर परेड करेंगे.

(इनपुट भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 24, 2021 11:18 PM IST

Updated Date: January 24, 2021 11:24 PM IST