सरकार से बात करने के लिए किसानों ने प्रतिनिधि मंडल बनाया, Rakesh Tikait ने कहा- आंदोलन खत्म नहीं होगा

आज किसान नेताओं की मीटिंग हुई, इसमें फैसला हुआ कि आंदोलन खत्म नहीं किया जाएगा.

Advertisement

Farmers Protest: किसान आंदोलन (Kisan Andolan) फिलहाल खत्म होने के आसार नहीं दिख रहे हैं. किसान नेताओं ने आंदोलन को खत्म करने से साफ़ इनकार कर दिया है. किसान नेताओं ने आज हुई मीटिंग के बाद कहा कि आंदोलन चलता रहेगा. हमारी कई मांगें हैं. इनमें से सबसे अहम MSP और किसानों पर दर्ज मुक़दमे वापस लेने की मांग है. किसानों पर ये मुक़दमे आंदोलन के दौरान दर्ज किये गए हैं.

Advertising
Advertising

पिछले एक साल से किसान दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन चला रहे हैं. हाल ही में पीएम मोदी (PM Modi) ने कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया, इसके बाद संसद में भी ये कानून वापस ले लिए गए. उम्मीद थी कि सरकार के इतने बड़े फैसले के बाद आंदोलन खत्म हो जाएगा और किसान वापस चले जायेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने आंदोलन खत्म करने से इनकार करते हुए कहा कि हमारी और भी मांगें हैं, जो अभी पूरी नहीं हुई हैं. हम कहीं नहीं जा रहे हैं.

किसान नेता दर्शल सिंह पाल ने कहा कि किसान तब तक प्रदर्शन स्थलों से नहीं हटेंगे, जब तक सरकार कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के दौरान उनके विरुद्ध दर्ज मामले वापस नहीं ले लेती. आंदोलनकारी किसानों की लंबित मांगों को लेकर सरकार से बातचीत करने के लिए पांच सदस्यीय समिति बनाई है. ये सभी किसान नेताओं ने मीटिंग के बाद फैसला लिया है. इस कमेटी में बलबीर सिंह राजेवाल, शिवकुमार कक्का, गुरनाम सिंह चरुनी, युधवीर सिंह और अशोक धावले शामिल हैं. किसान नेताओं की अगली मीटिंग सात दिसंबर को होगी.

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

Advertisement

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:December 4, 2021 5:33 PM IST

Updated Date:December 4, 2021 5:33 PM IST

Topics