नई दिल्ली. दिल्ली के निहाल विहार इलाके से 7 साल की एक बच्ची की लाश मिलने के एक दिन बाद इस केस में एक 21 साल के युवक और उसके पिता को गिरफ्तार किया गया है. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों के ऊपर रेप और हत्या का आरोप है. बता दें कि सोमवार को बच्ची के परिजनों ने सड़क जाम करके मांग की थी कि दोनों आरोपियों को उनके हवाले कर दिया जाए, वे खुद ही उन्हें सजा देंगे.

डीएसपी आउटर सेजू पी कुरुविला के मुताबिक, आरोपी राजेंद्र उर्फ सतीश एक प्राइवेट क्लिनिक में नर्सिंग का काम करता है. उसे साल 2016 में एक 16 साल की लड़की के अपहरण और रेप के मामले में गिरफ्तार किया गया था. इस जुर्म में उसके पिता रामसरण को भी उसके साथ गिरफ्तार किया गया था.

दिल्ली के करोलबाग में होटल में भीषण आग, 17 की मौत, कई घायल

बहन के साथ चाऊमीन खाने गई थी मृतका
रिपोर्ट के मुताबिक, मृतका अपनी छोटी बहन के साथ शनिवार को एक नजदीक के दुकान पर चाऊमीन खाने गई थी. हालांकि, उन्होंने दुकान बंद पाया और वे घर लौटने लगीं. इसी बीच शराब के नशे में राजेंद्र ने उन्हें पकड़ लिया और उसकी छोटी बहन को आगे जाने को कहा. इस दौरान राजेंद्र मृतका को एक कमरे में ले गया और रेप किया.

हत्या कर दी
रिपोर्ट के मुताबिक, जब पीड़िता चिल्लाने लगी तो उसने नाइलॉन से बांध कर उसकी हत्या कर दी और फरार हो गया. इस बीच उसके पिता कमरे में पहुंचे और उसे जुर्म करते हुए देखा. इसके बाद दोनों ने निर्णय लिया कि वे लाश को नजदीक के डीडीए प्लॉट में दफन कर दें. उन्होंने एक कपड़े के बैग में लाश को बांध कर दफना दिया.

सीसीटीवी फुटेज से हुई पहचान
इंस्पेक्टर सुखबीर मालिक ने 200 सीसीटीवी पुटेज के आधार पर सस्पेक्ट की पहचान की. इसके साथ ही अपराधी के इतिहास को खंगालने पर मालूम हुआ कि वह आदतन अपराधी है. पुलिस जांच कर रही है कि क्या उन्होंने इसके पहले किसी और बच्ची के साथ इस तरह का जुर्म किया है.