नई दिल्ली: ऐसे समय में जब देश में लोगों में नफरत बढ़ रही है. अपने एकलौते बेटे को खो चुके एक पिता ने मिशाल कायम की है. दिल्ली के ख्याला इलाके में रहने वाले अंकित सक्सेना (23) की हत्या के 4 महीने बाद उनके पिता और घरवालों ने इफ्तार पार्टी का आयोजन किया. अंकित के कई दोस्तों के अलावा अंकित सक्सेना ट्रस्ट और पड़ोसियों की मदद से रमजान के महीने में इफ्तार का आयोजन किया गया. इसमें भारी संख्या में लोगों ने भाग लिया.

इस मौके पर नमाज अदा की गई और अंकित के लिए दुआ मांगी गई. अंकित के पिता यशपाल सक्सेना का कहना है कि इस आयोजन के माध्यम से वह समाज और उन लोगों को मैसेज देना चाहते हैं जो जाति और धर्म के नाम पर नफरत फैला रहे हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है और उम्मीद है कि उन्हें न्याय मिलेगा. हालांकि वह नहीं चाहते कि इस मुद्दे को संप्रदायिक रंग देकर उन्हें न्याय से वंचित कर दिया जाए.

गौरतलब है कि 23 साल के अंकित घर के पास रहने वाली एक लड़की से प्यार करते थे.अंकित जिस लड़की से प्यार करते थे वो दूसरे धर्म की थी.लड़की के परिवार वालों ने अंकित को उससे दूर रहने की धमकी दी लेकिन अंकित ने लड़की से रिश्ता तोड़ने से इनकार कर दिया था. आरोप है कि अंकित के इनकार के बाद ही उनकी हत्या की गई.

जिस वारदात में अंकित की जान चली गई उस हादसे में अंकित की मां को भी गंभीर चोटें आई थीं. उनका कहना है कि आरोपी पहले से ही तय करके आए थे. पिता का कहना है कि मुझे अपने बेटे का सपना सच करना है. यही कारण है कि उन्होंने अंकित के नाम से ट्रस्ट बनाया है. उनका कहना है कि वह चाहते हैं कि लोग उनके बेटे के याद रखें. उनके पास जिंदगी जीने की कोई और दूसरी वजह नहीं है.अंकित सक्सेना प्रोफेशनल फोटोग्राफर थे. उन्होंने आवारा बॉय के नाम से एक यू्ट्यूब चैनल भी बनाया था. जिस जगह अंकित की हत्या की गई थी.