नई दिल्ली: पुलवामा में पिछले साल आतंकवादियों द्वारा अगवा किए गए और बेरहमी से मार दिए गए सेना के जवान औरंगजेब के पिता यहां रविवार को एक जनसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में बीजेपी में शामिल हो गए. राजौरी के निवासी राइफलमैन औरंगजेब के पिता मोहम्मद हनीफ सेना के पूर्व अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) राकेश कुमार शर्मा के साथ भाजपा में शामिल हो गए. प्रधानमंत्री द्वारा शर्मा के साथ हनीफ का पार्टी में स्वागत किये जाने पर उन्होंने अपने शहीद बेटे की एक तस्वीर प्रधानमंत्री को भेंट की.

राष्ट्रीय राइफल के राइफलमैन औरंगजेब (44) को आतंकवादियों ने पुलवामा जिले में उस वक्त अगवा कर हत्या कर दी थी जब 14 जून को वह ईद मनाने के लिए अपने घर जा रहे थे. बाद में उन्हें मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था. हनीफ ने कहा, ‘मैं भाजपा की गरीब समर्थक नीतियों के कारण इस पार्टी में शामिल हुआ हूं. मोदी सरकार देश में सर्वश्रेष्ठ सरकार है जो पिछली सरकारों के विपरीत गरीबों के बारे में सोचती है.

शहीद राइफलमैन औरंगजेब के पिता ने आतंकवादियों द्वारा बेटे की हत्या के बाद कह था, सोचा था बेटे और पूरे परिवार के साथ ईद मनाऊंगा. लेकिन जालिमों ने ऐसा होने नहीं दिया.उन्होंने सवाल किए थे कि साल 2003 से अब तक आंतक का सफाया क्यों नहीं हुआ. बुरा करने वाले भी तो मुसलमान ही हैं. जो बुरा करता है उसके साथ बुरा होता है. औरंगजेब का शहीद होना मेरा ही नुकसान नहीं है. ये पूरे कश्मीर का नुकसान है.

अप्रैल 2018 में आतंकी समीर टाइगर को सेना ने मार गिराया था. जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन में उसे ढेर किया था. हिज्बुल मुजाहिद्दीन कमांडर समीर टाइगर सेना की हिटलिस्ट में लंबे समय से था. मुठभेड़ में उसका एक साथी भी ढेर हुआ था औरंगजेब उस टीम के हिस्सा थे.