जयपुर: पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की पाकिस्तान स्थित एक महिला एजेंट के साथ महत्वपूर्ण जानकारी साझा करने के आरोप में दो भारतीय सैनिकों को जोधपुर रेलवे स्टेशन से हिरासत में लिया गया है. अधिकारियों के अनुसार, दोनों जवान पोखरण से अपने गांव जा रहे थे, जब खुफिया अधिकारियों ने उन्हें मंगलवार को जोधपुर रेलवे स्टेशन से हिरासत में ले लिया. अधिकारियों ने पुष्टि की कि पाकिस्तानी महिला द्वारा हनीट्रैप में फंसने के बाद जवान महत्वपूर्ण सूचना भेज रहे थे. दोनों आरोपियों को जयपुर से जोधपुर ले जाया गया, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है.

राजस्थान के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने पुष्टि की कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि दोनों सैनिक हनीट्रैप के शिकार हुए हैं. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, दोनों सैनिक व्हाट्सएप और फेसबुक के माध्यम से पाकिस्तान को महत्वपूर्ण जानकारी भेज रहे थे. इनमें से एक जवान मध्य प्रदेश से है, जबकि दूसरा जवान असम का रहने वाला है.

महिला जवानों से पंजाबी लहजे में बात करती थी. वह पाकिस्तान के नंबर से वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (वीओआईपी) सेवा का उपयोग कर रही थी. कॉल के दौरान सैनिकों की मोबाइल स्क्रीन पर भारतीय नंबर ही आता था. इस तरह से जवान उस महिला को भारतीय ही समझते रहे और उन्होंने उसे राजस्थान में सेना की तैनाती, सैन्य उपकरण और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी साझा कर दी.

सूत्रों ने बताया कि दोनों सैनिकों की पहचान लांस नायक रवि वर्मा और विचित्र बोहरा के रूप में हुई है, जिन्हें सीबीआई और आईबी की टीमों ने एक संयुक्त कार्रवाई में गिरफ्तार किया है. यह दोनों जवान पोखरण में तैनात थे. उन्हें मंगलवार रात जोधपुर से जयपुर लाया गया था.

(इनपुट-आईएएनएस)