नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी की 50 दिनों की डेडलाइन खत्म होने को है। ऐसे में भाजपा के तमाम बड़े नेता और मंत्री नोटंबदी के फायदे गिनाने के लिए मीडिया के सामने आ रहे हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी आज पत्रकारों को संबोधित किया। जेटली ने नोटबंदी को सफल बनाने के लिए देश की जनता का धन्यवाद किया। इसके बाद उन्होंने नोटबंदी के फायदों को गिनाया। अरुण जेटली ने नोटबंदी के बाद से इन 5 बड़े फायदों की चर्चा की… Also Read - अरुण जेटली की जगह लेंगे थावरचंद गहलोत, राज्यसभा में सदन के होंगे नेता

  1. वित्त मंत्री ने बताया कि नोटबंदी के बाद से देश में डायरेक्ट टैक्स में 13.6 प्रतिशत का इजाफा देखा गया है। उन्होंने कहा कि आयकर के मामले में नोटबंदी का असर साफ देखा जा सकता है।
  2. वित्त मंत्री ने कहा कि नोटबंदी के बाद से किसानों को भी फायदा हुआ। रबी की फसल की बुआई में बीते साल के मुकाबले 6.3 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।
  3. बैंकिंग सेक्टर में भी सुधार हुआ है। जो पैसा लोगों ने छुपा कर रखा था वो बैंकिंग दायरे में आ गया है। अब उनपर भी टैक्स लगेगा। इससे अर्थव्यवस्था को फायदा होगा।
  4. डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा मिला है।
  5. आतंकवाद, घूसखोरी में कमी आई है।

इसके अलावा वित्त मंत्री ने नोटबंदी के बाद की अव्यवस्थाओं के बारे में कहा कि अब इस मामले में तेजी से सुधार होगा। आयकर में अभी तक कुल 14.4 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है। 500 रुपए के और ज्यादा नए नोट सर्कुलेशन में आएंगे। आरबीआई के पास पर्याप्त करंसी है, नोट का बड़ा हिस्सा बदला गया है। नोटबंदी पर एक भी जगह विरोध-प्रदर्शन की घटना सामने नहीं आई.. Also Read - सीबीआई प्रमुख और उप प्रमुख को CVC की सिफारिश पर हटाया गया: अरुण जेटली

Also Read - सियासी भिड़ंत हुई तेज, बीजेपी ने पूछा, कांग्रेस बताए विजय माल्या के साथ क्या लेनदेन हुआ?