नई दिल्ली: देश कोरोना महामारी के कारण आर्थिक मंदी से जूझ रहा है. ऐसे में भारत सरकार अब अर्थव्यवस्था को तेजी देने के मूड में नजर आ रही है. इसी के तहत गुरुवार के दिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया. इस दौरान वित्त मंत्री ने आत्मनिर्भर भारत 3.0 के तहत 2,65,080 करोड़ रुपये के तहत 12 उपायों की घोषणा की. इस दौरान वित्तमंत्री ने EPFO को लेकर अहम सूचना दी. Also Read - 15th Pay Commission Report: 15वें वित्त आयोग ने वित्त मंत्री को सौंपी रिपोर्ट, संसद में होगी पेश

उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत रोजगार के तहत भारत सरकार ने एक अहम फैसला लिया है. जिन लोगों को EPFO से नहीं जोड़ा गया है सरकार ने उन्हें इपीएफओ से जोड़ने का काम करेगी और इसका लाभ उन लोगों को भी मिलेगा जो EPFO से जुड़े हैं और उनकी तनख्वाह 15 हजार से कम है. बता दें कि जो लोग अगस्त से सितंबर के दौरान नौकरीपेशा नहीं थे लेकिन बाद में उनका पीएफ खाता बनाया गया उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलने जा रहा है. यह योजना 30 जून 2021 तक लागू रहेगी. Also Read - सरकार के कदम का रियल एस्टेट उद्योग ने किया स्वागत, कहा- राहत पैकेज से घट सकती हैं फ्लैट की कीमतें

भारत सरकार इसके तहत जिस भी संस्थान में 1000 तक की संख्या के कर्मचारी कार्यरत हैं उन कंपनियों में नई भर्ती वाले कर्मचारियों को PF का पूरा 24 फीसदी हिस्सा सब्सिडी के तौर पर देगी. 1 अक्टूबर 2020 से यह नियम लागू कर दिया जाएगा. बता दें कि भारत सरकार के इस फैसले से 95 फीसदी संस्थान को फायदा होगा और करोड़ों कर्मचारी इसका लाभ ले पाएंगे. Also Read - Announcements by Finance Minister: वित्त मंत्री ने किया राहत पैकेज का ऐलान, जानिए-आपके लिए क्या है