मदुरै: तमिलनाडु के मदुरै स्थित प्रसिद्ध मीनाक्षी मंदिर परिसर के अंदर भीषण आग लग जाने से कम से कम 40 दुकानें जलकर खाक हो गयीं. पुलिस ने बताया कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है. मंदिर के अधिकारियों ने किसी तरह की गड़बड़ी से इनकार किया और कहा कि पूजा सामग्री बेचने वाली दुकानों में से एक में बीती रात शॉर्ट सर्किट के चलते आग लग गई. Also Read - राहुल गांधी Madurai में जल्लीकट्टू देखते आए नजर, टि्वटर पर ट्रेंड हुए गोबैक राहुल, वेलकम नड्डाजी

पुलिस ने बताया कि आग से मंदिर की प्रतिमाओं को कोई नुकसान नहीं हुआ है, हालांकि इसके अधिकतर हिस्से आग से काले हो गए हैं. Also Read - NEET परीक्षा से एक दिन पहले 19 साल की छात्रा की आत्‍महत्‍या के बाद सुसाइड नोट मिला, गर्माई स‍ियासत

सौभाग्य से मंदिर अधिकारियों, कर्मचारियों और दमकल एवं बचाव सेवा अधिकारियों के समय रहते दखल के कारण 1000 स्तंभों वाले हॉल में बनी सभी प्रतिमाएं सुरक्षित हैं. आग बुझाने एवं स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिये दमकल विभाग के कर्मचारियों को आधी रात से ज्यादा देर तक कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. Also Read - तमिलनाडु में 31 जुलाई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, जारी रहेंगी पाबंदियां; चेन्नई और मदुरै को कोई छूट नहीं

अधिकारियों ने बताया कि नियत समय में मंदिर में पूजा होगी और पूर्वी भाग की सफाई का काम तीन दिन में पूरा कर लिया जायेगा.

हिंदू भक्त जन सभा, विहिप एवं हिंदू मन्नानी सहित विभिन्न संगठन मंदिर परिसर के अंदर स्थित दुकानों को हटाने तथा परिसर को स्वच्छ रखने की मांग करते रहे हैं.

वहां मौजूद जिला कलेक्टर वीरा राघव राव ने संवाददाताओं को बताया कि घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है, श्रद्धालु हमेशा की तरह मंदिर में पूजा कर सकते हैं. कम से कम 300 पुलिसकर्मियों को मंदिर एवं इसके आस पास सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. बहरहाल श्रद्धालुओं को शनिवार सुबह मंदिर में पूजा करने की अनुमति दी गई.