जम्मू-कश्मीर:  नक्सलियों के बाद अब आतंकियों के सफाए की जिम्मेदारी पहली बार किसी महिला आईपीएस अफसर के कंधे पर दी गई है. और वो नाम है चारु सिन्हा का, जिन्हें श्रीनगर सेक्टर का इंस्पेक्टर जनरल (IG) बनाया गया है. चारु सिन्हा, देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्हें सीआरपीएफ श्रीनगर सेक्टर का आईजी बनाया गया है. Also Read - जम्मू-कश्मीर: एडवोकेट बाबर कादरी की हत्या, आतंकियों ने मारी गोली

एएनआई की खबरों के मुताबिक चारु सिन्हा 1996 बैच की तेलंगाना कैडर की आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्हें इस कठिन कार्य को सौंपा गया है. सिन्हा के लिए हालांकि यह पहला मौका नहीं है, जब उन्हें कोई महत्चपूर्ण कार्य दिया गया हो. इससे पहले वो सीआरपीएफ बिहार सेक्टर की आईजी थीं और नक्सलियों के खिलाफ मुहिम की अगुवाई कर रही थीं. Also Read - केरल, पश्चिम बंगाल से अरेस्‍ट अलकायदा आतंकियों का ये था प्‍लान, पाक हैंडलर से मिल रहे थे आदेश

चारु सिन्हा के बतौर आईजी बिहार रहते हुए सीआरपीएफ ने कई सफल नक्सल अभियान को अंजाम दिया था. इसके बाद उनका तबादला बतौर आईजी जम्मू कर दिया गया. जहां उनका लंबा और शानदार कार्यकाल था. इसके बाद सोमवार को उनका तबादला श्रीनगर सेक्टर में कर दिया गया. Also Read - पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए कर रहा सुरंगों का इस्तेमाल : जम्मू कश्मीर के डीजीपी

सीआरपीएफ के मौजूदा डायरेक्टर जनरल (डीजी) एपी माहेश्वरी भी 2005 में श्रीनगर सेक्टर के आईजी रहे हैं. इस सेक्टर की शुरुआत 2005 में हुई थी. अब तक कभी भी यहां पर आईजी के रूप में महिला अफसर की तैनाती नहीं हुई थी. इस सेक्टर का काम आतंक विरोधी अभियानों को सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद से अंजाम देना है.

सीआरपीएफ के श्रीनगर सेक्टर में जम्मू-कश्मीर के तीन जिले बडगाम, गांदरबल और श्रीनगर और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख आता है. इस सेक्टर में 2 रेंज, 22 कार्यकारी यूनिट और तीन महिला कंपनी आती है. इसके अलावा श्रीनगर सेक्टर का ग्रुप सेंटर-श्रीनगर पर प्रशासनिक कंट्रोल भी है.