डायमंड हार्बर (पश्चिम बंगाल): बंगाल की खाड़ी में मंगलवार को लापता हुए 19 मछुआरों का अब तक कुछ पता नहीं चला है हालांकि मछुआरों के एक संगठन ने एक द्वीप के पास एक शव मिलने का आज दावा किया है. Also Read - मालामाल: रातोंरात लखपति बनी ये गरीब महिला, 3 लाख में बिकी मछली

Also Read - MP समेत 11 राज्‍यों की 56 विधानसभा और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव का ऐलान, देखें पूरी डिटेल

पश्चिम बंगाल संगठित मछुआरा संघ के मुताबिक शव डलहौजी द्वीप से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर मिला और इसके नजदीक ही डूबने वाला पहला ट्रॉलर ‘एफबी जॉय किशन’ मिला. हालांकि इस संबंध में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. लापता लोगों की तलाश के लिए तटरक्षक बल का जेट इंजन से चलने वाला वाहन (होवरक्राफ्ट) और एक विमान सेवा में लगाया गया है. Also Read - राज्यपाल धनखड़ की ममता सरकार को चेतावनी, 'बंगाल में संविधान की रक्षा नहीं हुई तो कार्रवाई होगी'

मानसून सत्र के पहले दिन लोकसभा तेदेपा-सपा सदस्यों ने की नारेबाजी

बचाव अभियान में गया दल

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस का एक मोटर लॉन्च (छोटा सैन्य पोत) और मछुआरा संघ के छह ट्रॉलर भी बचाव अभियान के लिए समुद्र में भेजे गए हैं. मंगलवार को सुंदरबन इलाके के फ्रेजरगंज में तीन ट्रॉलरों के पलट जाने के बाद 19 मछुआरे लापता हो गए थे. (इनपुट एजेंसी)