डायमंड हार्बर (पश्चिम बंगाल): बंगाल की खाड़ी में मंगलवार को लापता हुए 19 मछुआरों का अब तक कुछ पता नहीं चला है हालांकि मछुआरों के एक संगठन ने एक द्वीप के पास एक शव मिलने का आज दावा किया है. Also Read - बंगाल: दुर्गा पंडाल में दिखा 'असुर जिनपिंग' का सिर, लोग बोले- मां दुर्गा के हाथों कोरोना वायरस का खात्मा किया

Also Read - क्या पश्चिम बंगाल में लागू होगा राष्ट्रपति शासन?, कैलाश विजयवर्गीय बोले- निष्पक्ष चुनाव के लिए यह जरूरी

पश्चिम बंगाल संगठित मछुआरा संघ के मुताबिक शव डलहौजी द्वीप से करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर मिला और इसके नजदीक ही डूबने वाला पहला ट्रॉलर ‘एफबी जॉय किशन’ मिला. हालांकि इस संबंध में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. लापता लोगों की तलाश के लिए तटरक्षक बल का जेट इंजन से चलने वाला वाहन (होवरक्राफ्ट) और एक विमान सेवा में लगाया गया है. Also Read - बंगाल में दुर्गा पूजा के मौके पर बोले पीएम मोदी- आत्मनिर्भर भारत’ के संकल्प से ‘सोनार बांग्ला’ के संकल्प को पूरा करना है

मानसून सत्र के पहले दिन लोकसभा तेदेपा-सपा सदस्यों ने की नारेबाजी

बचाव अभियान में गया दल

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस का एक मोटर लॉन्च (छोटा सैन्य पोत) और मछुआरा संघ के छह ट्रॉलर भी बचाव अभियान के लिए समुद्र में भेजे गए हैं. मंगलवार को सुंदरबन इलाके के फ्रेजरगंज में तीन ट्रॉलरों के पलट जाने के बाद 19 मछुआरे लापता हो गए थे. (इनपुट एजेंसी)