नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को राष्ट्रीय खेल दिवस (National Sports Day) के मौके पर राष्ट्रव्यापी फिट इंडिया मूवमेंट (Fit India Movement) की शुरुआत की. दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में इस कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि वह चाहते हैं कि स्वास्थ्य से संबंधित वीडियो स्कूलों में दिखाए जाएं. उन्होंने कहा कि फिटनेस हमारे जीवन में अहम होना चाहिए. पहले स्वास्थ्य से सभी काम पूरा होते थे आज स्वार्थ हावी है. पीएम ने कहा कि सफल लोगों में अधिकतर फिट होते हैं. फिर शरीर में ही फिट माइंड का वास होता है. उन्होंने कहा कि आप फिट रहेंगे तभी सफलता की सीढ़ी चढ़ पाएंगे. किसी भी पेशे में ऊंचाई तक पहुंचने के लिए फिटनेस जरूरी है.

पीएम ने कहा कि पहले लोग बहुत सहज तरीके से 8 से 10 किमी तक पैदल चल लेते थे.  इस अभियान को लॉन्च करने के कार्यक्रम का लाइव प्रसारण दूरदर्शन पर किया गया. पीएम ने कहा कि फिटनेस आज एक शब्द नहीं बल्कि जीनव का मूल मंत्र होना चाहिए.

देशवासियों की सेहत और तंदुरुस्ती के लिए चलने वाले इस अभियान के बारे में खुद पीएम मोदी ने बीते दिनों मन की बात कार्यक्रम में जानकारी दी थी. उन्होंने कहा कि आज टेक्नोलॉजी ने लोगों का चलना कम कर दिया है. व्यायाम से लंबी आयु और सुख की प्राप्ति होती है. दिनचर्या में छोटे-छोटे बदलावों से कम बीमारियों से बचा जा सकता है.

पीएम ने कहा कि दुनिया में आज फिटनेस पर जोर दिया जा रहा है. चीन और जर्मनी जैसे देशों ने फिटनेस को लेकर बहुत काम हो रहा है. चीन ने फिटनेस को लेकर लक्ष्य तय किया है. वे फिटनेस को लेकर काफी सचेत हैं.

पीएम ने इस मौके पर राष्ट्रीय खेल दिवस का जिक्र करते हुए कहा कि खेल का सीधा नाता फिटनेस से है. पीएम ने अमेरिका-ब्रिटेन जैसा देश नया फिटनेस फंडा लेकर आ रहे हैं. कई देशों ने फिटनेस को लेकर जनाभियान चलाया है. उन्होंने कहा कि फिटनेस के प्रति जीवन में बदलाव से काफी कुछ हो सकता है. आज फिटनेस केवल एक शब्द नहीं बल्कि यह स्वस्थ जीवन की शर्त है. पीएम ने कहा कि परिवारों में शारीरिक श्रम चर्चा का विषय होना चाहिए. पीएम ने आगे कहा कि फिटनेस के प्रति जागरूकता से बदलाव लाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि फिटनेस में जीरो लागत है लिए फायदा असीमित है.

इसी सप्ताह रविवार को मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट के बारे में लोगों को जानकारी दी थी. पीएम मोदी ने कहा था कि देश की तरक्की के लिए लोगों का सेहतमंद रहना जरूरी है. पीएम ने कहा था कि खुद को तंदरुस्त रखना है. देश को फिट बनाना है. हर एक के लिए बच्चे, बुजुर्ग, युवा, महिला सब के लिए ये बड़ा रोचक अभियान होगा और ये आपका अपना होगा.