नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी में केंद्र सरकार के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में पांच और लोगों को घातक कोरोना वायरस के संपर्क में आने के संदेह के बाद भर्ती कराया गया है. इनमें चार पुरुष और एक महिला है. इस वायरस से चीन में 170 लोगों की मौत हो गई है और यह दुनिया भर में फैल गया है.

अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि सभी पांच लोग संदेह होने पर खुद ही आरएमएल अस्पताल आएं हैं. उन्हें सांस लेने में दिक्कत और बुखार है. उन्होंने बताया कि एक शख्स बुधवार रात आया था जबकि चार अन्य बृहस्पतिवार को आएं हैं. सभी लोगों को एक अलग वार्ड में रखा गया है. अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि फिलहाल अभी सभी लोगों के खून का सैंपल ले लिए गए हैं और जांच के लिए लैब भेजा जा चुका है.

कोरोना वायरस का कहर: चीन ने महामारी की रोकथाम व नियंत्रण पर भारत को किया आश्वस्त

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि राममनोहर लोहिया अस्पताल के एक पृथक वार्ड में तीन लोगों को निगरानी में रखा गया था और उनकी जांच नकारात्मक रही है. भारत में कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि हुई और केरल के त्रिशूर जिले में संक्रमित मरीज को ‘पृथक’ वार्ड में रखा गया है.

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने गुरुवार को देश में तैयारियों के संदर्भ में संबंधित मंत्रालयों – स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, नागर विमानन, सूचना-प्रसारण, श्रम और रोजगार, तथा पोत परिवहन- के साथ समीक्षा बैठक की जिससे विषाणु के प्रसार पर काबू पाने को लेकर चर्चा हुई.