नई दिल्ली: कानपुर का एक फाइव स्टार होटल सबसे तेज रफ्तार से चलने वाली ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ में यात्रियों को “बासी खाना” परोसने को लेकर रेलवे की जांच के दायरे में आ गया है. इस रेलगाड़ी में फतेहपुर से सांसद और केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति भी सवार थीं. आईआरसीटीसी के वरिष्ठ अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

अरुणाचल प्रदेश के लीपो में मिला लापता विमान एएन-32 का मलबा, 13 लोग थे सवार

आर्मी के एक कर्नल की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए ट्रेन में भोजन उपलब्ध कराने वाला भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) होटल को दंडित कर सकता है. अधिकारियों ने बताया कि नौ जून को शिकायत मिली थी.

लिफ्ट मांगकर लड़की रेप के झूठे केस में फंसाती थी, पुलिस से मिलकर मोटी रकम वसूलने वाले रैकेट का हुआ ये खुलासा

आईआरसीटीसी (पर्यटन) के समूह महाप्रबंधक राजेश कुमार ने बताया, ‘हमें एक यात्री की ओर से शिकायत मिली है और हम इस पर कार्रवाई करेंगे. पहली नजर में लगता है कि कानपुर के पांच स्‍टार होटल ने चावल की आपूर्ति की, जो यात्रियों के मुताबिक ताजा नहीं थे. आईआरसीटीसी (उत्तर) के समूह महाप्रबंधक, होटल के भोजन तैयार करने और पैकेजिंग का निरीक्षण कर रहे हैं.”

जे एंड के बैंक में अनियमितताएं: आईटी डिपार्टमेंट ने 10 जगह पर छापे की कार्रवाई शुरू की

कुमार ने बताया, “उन्होंने देखा है कि वे गैर-एसी वाहन में भोजन ले जा रहे हैं जिससे हो सकता है समस्या हुई हो. अत्यधिक गर्मी के कारण चीजें बहुत बिगड़ गई हैं, लेकिन इसकी अनुमति नहीं दी जा सकती और हम सुधारात्मक उपाय करेंगे.” उत्तर भारत इन दिनों भीषण लू की चपेट में है और राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को पारा 48 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया.

करप्शन पर मोदी सरकार का सर्जिकल स्ट्राइक! इनकम टैक्स विभाग के 12 सीनियर अफसरों पर बेहद कड़ी कार्रवाई