नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रकोप के बाद जारी हुए लॉकडाउन में ऐसी कई कहानियां सामने आईं, जिन्हें सुनने के बाद हर कोई हैरान रह गया. लॉकडाउन के बीच कई लोग अपने घर-परिवार से दूर अलग शहर, राज्य और कई तो विदेशों में फंस गए. प्रवासी मजदूरों की हालत किसी से छिपी नहीं रही.  इसी लॉकडाउन के चलते एक पांच साल का बच्चा अपनी मां से तीन महीनें तक नहीं मिल पाया. अब जब फ्लाइट सेवा शुरू हो गई तो वह अपने घर पहुंच सका है. आश्चर्य की बात यह रही कि वह अकले सफर तय करके घर पहुंचा.Also Read - Haryana Lockdown Update: हरियाणा में 28 जनवरी तक बढ़ी लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, शराब की दुकानों के समय में बदलाव

दरअसल, करीब दो महीने से बंद पड़ीं घरेलू उड़ानें आज से ही शुरू की गई हैं. ऐसे में एक पांच साल का बच्चा, जिसका नाम विहान बताया जा रहा है अकेले ही दिल्ली (Delhi) से यात्रा कर बेंगलुरू एयरपोर्ट (Bengaluru Airport) पहुंचा. यह बच्चा पिछले तीन महीनों से अपनी मां से दूर दिल्ली में रह रहा था. ऐसे में जैसे ही घरेलू उड़ानें शुरू हुईं विहान भी अपनी मां के पास बेंगलुरू के लिए निकल पड़ा. जहां बेंगलुरु एयरपोर्ट पर उसकी मां उसे लेने पहुंची थी. Also Read - Corona Update: कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच केंद्र का राज्यों को जल्द से जल्द जांच बढ़ाने का निर्देश

Also Read - World News: इस देश ने जारी किया सख्त कानून-कोरोना वैक्सीन नहीं ली, स्टेडियम-रेस्टोरेंट में नहीं मिलेगी एंट्री

लॉकडाउन के बीच दिल्ली में रह रहा विहान आज दिल्ली से बंगलूरू की फ्लाइट में अकेले ही बैठकर बेंगलुरु पहुंचा, जहां उसकी मां ने उसे रिसीव किया. विहान शर्मा की मां मंजरी शर्मा ने बताया कि उनका बेटा लॉकडाउन के चलते पिछले तीन महीने से अपने दादा-दादी के साथ दिल्ली में रह रहा था. विहान लॉकडाउन लगने से पहले ही दिल्ली गया था, ऐसे में जैसे ही देश में लॉकडाउन लगा, वह वहीं रह गया. जिसके बाद घरेलू उड़ानों के शुरू होने के बाद आज वह वापस लौट सका.