Floating Stone found in Narmada: दुनिया में कितनी ऐसी घटनाएं होती रहती हैं जो वैज्ञानिक नियमों को धत्ता बताती हैं. ऐसी घटनाएं हमारे सामान्य ज्ञान की परीक्षा लेती हैं और हमें आश्चर्य चकित कर देती हैं. ऐसी ही एक घटना गुजरात (Gujarat) में वडोदरा (Vadodara) के पास देरूली गांव में सामने आई हैं. यहां करीब 7 किलो का एक तैरता पत्थर सभी के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.Also Read - Gujarat Corona Update: गुजरात के इस शहर में दिवाली के बाद जाने वालों के लिए निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट जरूरी

कुछ लोग इस तैरते पत्थर को किसी चमत्कार से जोड़कर देख रहे हैं, तो कई लोगों का कहना है कि यह रामसेतु (Ram Setu) का पत्थर है, जो समुद्र में बहता हुआ यहां तक आ पहुंचा है. दूर-दूर से लोग इस पत्थर के दर्शन करने को आ रहे हैं. इस पत्थर को देखने के लिए गांव में लोगों का तांता लगा हुआ है. Also Read - Gujarat ATS ने पाक को खुफिया जानकारी भेज रहे BSF कॉन्स्टेबल मोहम्मद सज्जाद को किया अरेस्‍ट

दरअसल गांव का एक युवक मछली पकड़ने के लिए अपनी नाव पर सवार होकर नर्मदा नदी में गया हुआ था. यहां उसे नदी में तैरती एक पत्थर जैसी चीज दिखाई दी, जिसे उसने पहले तो नजरअंदाज किया, लेकिन बाद में देखा तो वह सच में पत्थर ही निकला. पानी में तैरता वजनी पत्थर देखकर वह आश्चर्य चकित रह गया और उस पत्थर को अपने गांव ले आया. गांव के लोगों ने तैरते पत्थर की सच्चाई जानने के लिए उसे अपने बर्तनों में पानी भरकर उसमें भी तैराया. यह पत्थर बर्तन के पानी में भी तैर रहा था. Also Read - दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर उठाए सवाल, कहा- शाहरुख खान के बेटे हैं इसलिए आर्यन को प्रताड़ित किया जा रहा

हालांकि, वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखें तो पत्थर का तैरना एक आम बात है. वैज्ञानिकों के अनुसार कुछ पत्थर कुछ खास तरह के होते हैं और उनका तैरना आम बात है. कोरल स्टोन, चूना पत्थर या ज्वालामुखी की राख से बने पत्थरों का पानी में तैरना बिल्कुल आम बात है.

ऐसे पत्थरों में वजन तो होता है, लेकिन इनकी अंदरूनी संरचना इस तरह की होती है कि उनमें कुछ पॉकेट बन जाते हैं, जिनके अंदर हवा बंद हो जाती है. इससे उन पत्थरों की डेंसिटी कम हो जाती है और उसी बंद हवा के चलते पत्थर पानी में भी तैरने लगते हैं. यह ठीक वैसे ही है जैसे पान्टून ब्रिज काम करते हैं.

इस तैरते पत्थर का एक वीडियो भी यूट्यूब पर अपलोड किया गया है. हालांकि, india.com इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता और इस बात की भी पुष्टि नहीं करता कि यह वीडियो नर्मदा में मिले तैरते पत्थर का ही है.