गौतम बुद्धनगर/दिल्ली. देश के पूर्वी, उत्तरी और दक्षिणी इलाकों में तबाही मचाने के बाद अब राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. रविवार की शाम दिल्ली सरकार द्वारा चेतावनी जारी किए जाने के बाद सोमवार को उत्तर प्रदेश के नोएडा में भी प्रशासन ने चेतावनी जारी की. हरियाणा में स्थित हथिनी कुंड बैराज (ताजेवाला) से रविवार शाम छह बजे 8,28,072 क्यूसेक पानी यमुना नदी में छोड़ने से दिल्ली और नोएडा में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है. दिल्ली सरकार की ओर से जारी चेतावनी में कहा गया है कि यमुना नदी का जलस्तर खतरे के निशान को कभी भी पार कर सकता है. इसलिए निचले इलाकों में रहने वालों से सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा गया है. वहीं, सोमवार को गौतमबुद्धनगर जिला प्रशासन ने भी ऐसी ही चेतावनी जारी की.

गौतमबुद्ध नगर के जिला अधिकारी बी.एन. सिंह ने यमुना के किनारे रहने वालों को सभी जरूरी सामान लेकर सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील की है. गौतम बुद्धनगर जिला प्रशासन के प्रवक्ता राकेश चौहान ने बताया कि पानी के मंगलवार की रात तक नई दिल्ली में ओखला बैराज पर पहुंचने की संभावना है. उन्होंने कहा कि जिला अधिकारी ने बाढ़ एवं सिंचाई विभाग समेत अन्य संबंधित सरकारी एजेंसियों को सतर्क रहने, पानी की स्थिति पर नजर बनाए रखने और आवश्यकता पड़ने पर सुरक्षात्मक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

बाढ़ से खतरा के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने सोमवार की सुबह आपात बैठक बुलाई है. दिल्ली सरकार के अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि यमुना नदी के बढ़ते जलस्तर और संभावित बाढ़ के खतरे को देखते हुए यह आपात बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में राष्ट्रीय राजधानी में प्रशासन और आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी विभागों के आला अधिकारियों को मौजूद रहने को कहा गया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में बाढ़ से बचाव को लेकर कोई ठोस कदम उठाने के संबंध में दिशा-निर्देश दिए जा सकते हैं.

अब दिल्ली में भी बाढ़ की चेतावनी जारी, 24 घंटे में खतरे के निशान को पार कर सकती है यमुना नदी

इससे पहले रविवार की शाम अधिकारियों ने बताया कि यमुना नदी का जलस्तर 203.37 मीटर तक पहुंच गया है. इसके सोमवार तक बढ़ कर 207 मीटर तक पहुंचने की संभावना है. पूर्वी दिल्ली जिला ने एक आदेश में कहा गया, ‘‘भारी बारिश के कारण जलस्तर बढ़ रहा है और साथ ही हथिनी कुंड बैराज से पानी छोड़े जाने और यमुना का जलस्तर कल (सोमवार) सुबह 10 बजे तक 207 मीटर तक बढ़ सकता है, जिससे जान-माल के नुकसान का खतरा पैदा हो गया है.’’ सभी उप-विभागीय मजिस्ट्रेटों को सोमवार सुबह 9 बजे तक दिल्ली पुलिस और नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवकों की मदद से निचले इलाकों के लोगों को निकालने का निर्देश दिया गया है.

(इनपुट – एजेंसी)