गुवाहाटी: असम में बाढ़ के कारण मंगलवार को दो और व्यक्तियों की मौत के साथ मरने वालों की संख्या 68 तक पहुंचने के बीच बाढ़ की स्थिति भयावह बनी हुई है और 19 जिलों में 28.01 लाख लोग उससे प्रभावित हुए हैं. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार गोलाघाट जिले के काजीरंगा नेशनल पार्क में 13 जुलाई से मरने वाले जानवरों की संख्या बढ़कर 204 हो गयी है जिनमें 15 गैंडे हैं. Also Read - नेपाल ने UP को भेजा खतरे का अलर्ट, झील में आईं दरारें, शारदा नदी के क‍िनारे के 50 से अधिक गांवों में बाढ़ का खतरा

Also Read - Uttarakhand Disaster: उत्तराखंड में क्यों आई त्रासदी? कहीं 'वॉटर पॉकेट के फटने का परिणाम तो नहीं'

प्राधिकरण ने कहा कि वैसे विश्वनाथ और कारबी आंगलोंग जिलों में पानी घटा है लेकिन लखीमपुर और बक्सा में फिर बाढ़ का प्रकोप शुरू हो गया है. प्राधिकरण के बुलेटिन के अनुसार मोरीगांव और गोलाघाट जिलों में सोमवार से दो व्यक्तियों की जान चली गयी. बाढ़ प्रभावित जिलों की संख्या सोमवार के 18 से बढ़कर मंगलवार को 19 हो गयी. Also Read - Uttarakhand Weather Forecast: चमोली, तपोवन और जोशीमठ में कैसा रहेगा मौसम का हाल? मौसम विभाग ने दिया बड़ा अपडेट

बिहार: थाने में घुसा बाढ़ का पानी, आने-जाने को नाव का इस्तेमाल कर रही पुलिस, ऐसा है नजारा

बाढ़ प्रभावित जिलों में अब भी 2523 गांव और 1.27 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में लगी फसल पानी में डूबी हुई हैं. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने में लगे हैं. कुल 1.04 लाख विस्थापित लोग अब भी 782 राहत शिविरों और राहत वितरण केंद्रों में हैं. हालांकि काजीरंगा नेशनल पार्क में पानी घटने लगा है.