नई दिल्ली:  पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़ का कहर जारी है. असम और त्रिपुरा में लाखों लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. बाढ़ की वजह से यहां अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं त्रिपुरा के तीन जिलों में अचानक बाढ़ आने से कम से कम 4,500 परिवार बेघर हो गए हैं.Also Read - Cyclone Shaheen: 'गुलाब' के बाद अब चक्रवात 'शाहीन' का खतरा, NDRF-SDRF ने संभाला मोर्चा

असम में तेज बारिश कहर बरपा रही है. असम के 21 जिलों के साढ़े 22 लाख लोग बाढ़ से जूझ रहे हैं. आर्मी ने असम में युद्ध स्तर पर बचाव कार्य शुरू किया है. पीएम मोदी ने असम के मुख्यमंत्री से बातचीत कर बाढ़ पर जानकारी ली. गौरतलब है कि इस साल बाढ़ की वजह से असम में दूसरी बार बाढ़ से हालात बिगड़े हैं. Also Read - Yellow Alert in Maharashtra: महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश, बिजली गिरने से 13 की मौत; सैकड़ों बचाए गए

बाढ़ की चपेट में बिहार
बिहार बाढ़ की चपेट में हैं. राज्य में लाखों लोगों पर अचानक आसमान से संकट आ गिरा है. पिछले 24 घंटों में यहां ऐसी बारिश हुई की जैसे आसमान फट गया. बिहार के कई जिलों में गांव के गांव बाढ़ में डूब गए. अगले दो दिन भी बिहार पर भारी है. मौसम विभाग ने भारी बारिश का अनुमान लगाया है. बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हवाई दौरा करेंगे. Also Read - Cyclone Gulab: चक्रवाती तूफान से निपटने में जुटी बंगाल सरकार, जारी किया गया रेड अलर्ट, जानें कहां जाने की है मनाही

पश्चिम बंगाल में तेज बारिश

बंगाल में लगातार हो रही भारी बारिश ने कई जिलों में बाढ़ की स्थिति पैदा कर दी है. उत्तरी बंगाल के अलीपुरद्वार, पश्चिमी बंगाल के जलपाईगुड़ी, दार्जिलिंग और दिनाजपुर जिलों में बाढ़ ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है. घरों में पानी भरने की वजह से लोग बेघर हो गए हैं. नदियों में पानी भरने की वजह से पास के इलाकों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं. बाढ़ में फंसे लोगों को सरकार की तरफ से राहत सामग्री भेजने समेत और भी कई जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं.