पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में सुख, शांति एवं समृद्धि के लिए पटना में मां भगवती शीतला माता, बड़ी पटनदेवी एवं छोटी पटनदेवी की रविवार को पूजा अर्चना की. नीतीश ने नवरात्र पर्व की महाअष्टमी के दिन अगमकुआं स्थित शीतला माता मंदिर जाकर मां शीतला देवी, पटना सिटी स्थित बड़ी पटनदेवी मंदिर एवं छोटी पटनदेवी मंदिर जाकर पूजा अर्चना की.

इस अवसर पर पुरोहितों ने मंत्रोचार के साथ नीतीश को विधिवत पूजा कराई. मुख्यमंत्री ने मां शीतला देवी, मां बड़ी पटनदेवी एवं मां छोटी पटनदेवी से राज्य में सुख समृद्धि, शांति और प्रगति की कामना की. नीतीश ने मारूफगंज स्थित श्री श्री बड़ी देवी जी तथा श्री श्री दलहट्टा देवी जी जाकर मां भगवती दुर्गा की भी पूजा अर्चना की.

पुनपुन नदी खतरे के निशान से तीन मीटर ऊपर, बारिश से और बढ़ा खतरा, मुख्यमंत्री ने किया हवाई सर्वे

मुख्यमंत्री के साथ पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, जदयू के बिहार विधान परिषद सदस्य रणवीर नंदन, विधान पार्षद ललन सर्राफ, पटना नगर निगम की महापौर सीता साहू, बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकारण के सदस्य उदयकांत मिश्रा, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा एवं अनुपम कुमार सहित अन्य लोग थे.

आपको बता दें कि राज्‍य की राजधानी पटना की ज्‍यादातर सड़कों पर अभी पानी भरा हुआ है. गैस, बिजली, पानी आदि आवश्‍यक सेवाओं को बहाल करने में प्रशासन को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है. बाढ़ के पानी की वजह से प्रभावित इलाकों में बीमारी का खतरा काफी बढ़ गया है. इस बीच पुनपुन नदी लगातार खतरे के निशान के ऊपर बह रही है और मूसलाधार बारिश के कारण बाढ़ का खतरा पटना देहात जिले में बढ़ गया है.

पटना में जल जमाव की समस्या के लिए जनता नहीं हम हैं जिम्मेदार, क्षमा याचना करेंगेः गिरिराज सिंह

केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक बिहार के भागलपुर के कोलगोंग में गंगा नदी अब भी खतरे के निशान से ऊपर हैं. बारिश के कारण पिछले हफ्ते बिहार में कम से कम 73 लोगों की मौत हो गई थी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को बारिश प्रभावित जिलों अरवल, जहानाबाद और पटना का हवाई सर्वेक्षण किया और जमीनी स्थिति की समीक्षा की थी.

(इनपुट-भाषा)