Heavy Rain in Bihar: लगभग एक हफ्ते से लगातार बारिश के कारण बिहार के कई शहरों में बाढ़ के हालात बने हए हैं. मौसम विभाग ने बिहार में अगले 24 घंटों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. 15 जिलो में रेड अलर्ट तो 10 जिलो में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. अलर्ट को देखते हुए इन जिलों में दो दिनों के लिए स्कूलों और आंगनवाड़ी केंद्रों की छुट्टी कर दी गई है. वहीं बिहार आने-जाने वाली कई ट्रेनों को कैंसिल करना पड़ा है तो कईयों के रूट में बदलाव किया गया है. NDRF और सेना को राहत कामों में लगाया हुआ है. सीएम नीतीश कुमार खुद सूबे में बाढ़ के हालातों की निगरानी कर रहे हैं.

बिहार उपचुनाव : समस्तीपुर सीट लोजपा के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न, दिवंगत रामचंद्र पासवान के बेटे लड़ सकते हैं चुनाव

सबसे बुरा हाल राजधानी पटना का है  जहां लगातार दो दिन से बारिश के कारण सड़कें नहरों में बदल गई हैं. शहर के अस्पताल तालाब बने हुए हैं. कई दिनों की बारिश गंगा नदी लगातार उफान पर बह रही है जिससे बिहार ही नहीं यूपी के कई जिलों में भी बाढ़ आई हुई है. पूरे यूपी में बाढ़ से अब तक 35 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. तो वहीं एमपी मंदसौर में उफनती शिवनी नदी का पानी मशहूर पशुपतिनाथ मंदिर के गृभगृह तक में जा पहुंचा है. छतरपुर में आसमानी बिजली गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई.

मेरी सियासी पारी प्रधानमंत्री मोदी के दूसरे कार्यकाल के साथ समाप्त हो सकती है: गिरिराज सिंह

ऐसा बहुत कम होता है कि सितंबर के महीनें में इस तरह से बारिश ने कहर बरपाया हो. भारी बारिश ने उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश में पूरी तरह से जन जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है. सीएम नीतीश कुमार ने किसी भी स्थिति के लिए आपदा प्रबंधन से तैयार रहने के लिए कहा है. पटना के लोगों ने जलजमाव की ऐसी तस्वीर कभी नहीं देखी थी. लोग बताते हैं कि 1975 में भी कुछ ऐसे ही हालात से रू-ब-रू हुआ था पटना. बीते 48 घंटों से लगातार हो रही बारिश ने हालात खराब कर दिए हैं. बीते 24 घंटो में पूरे बिहार में 52 मिलीमीटर बारिश हुई है. वहीं, पटना में 98 मिमी बारिश हुई है. वैशाली और नवादा के कुछ इलाकों में 200 मिमी तक बारिश दर्ज की गई है.

VIDEO: बेगूसराय में बाढ़ का जायजा लेने पहुंचे गिरिराज सिंह, गाड़ी से नहीं उतरने पर अधिकारी को लगाई फटकार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ के हालात को देखते हुए 22 जिलों के जिलाधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कई निर्देश दिए हैं. सीएम ने लगातार रिलीफ कैम्प और कम्यूनिटी किचन खोलने के निर्देश दिए हैं. नदियों क जलस्तर पर भी लगातार निगरानी रखने की हिदायत दी गई है.