रांची। चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में शुक्रवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव, आरके राणा, जगदीश शर्मा और तीन वरिष्ठ पूर्व आईएएस अधिकारियों समेत 16 लोगों की सजा के बिन्दु पर अदालत में बहस पूरी हो गई और अदालत ने सजा सुनाने के लिए शनिवार चार बजे का समय निर्धारित किया है. Also Read - 'जेल से NDA के विधायकों को फोन पर मंत्री पद का लालच दे रहे हैं लालू यादव', सुशील मोदी ने शेयर किया मोबाइल नंबर

Also Read - Rajya Sabha Election 2020: पासवान की राज्यसभा सीट से होगी भाजपा और जदयू के बीच भरोसे की परीक्षा

अदालत में शुक्रवार को दो बजे सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद और आरजेडी के दूसरे नेता आरके राणा की पेशी जेल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कराने के निर्देश दिए. इसके बाद न्यायाधीश ई-कोर्ट पहुंचे और वहां ई लिंक के माध्यम से लालू यादव और आरके राणा की अदालत में पेशी कराई गई. Also Read - तेजस्वी यादव का बड़ा ऐलान- बिहार की जनता और बर्दाश्त नहीं करेगी, हम सड़कों पर उतरेंगे

अदालत ने सजा के बिंदु पर लालू के वकीलों की बहस सुनी जिसमें उन्होंने उनकी लगभग 70 वर्ष की उम्र होने और बीमार होने की बार-बार दुहाई दी. अदालत ने एक-एक कर बाद में अन्य शेष सात अभियुक्तों की भी सजा के बिन्दु पर उनकी उपस्थिति में बहस सुनी. ये सभी अदालत में हाजिर हुए. 

हमारी पार्टी के किसी सदस्य ने सीबीआई जज को फोन नहीं किया: आरजेडी

हमारी पार्टी के किसी सदस्य ने सीबीआई जज को फोन नहीं किया: आरजेडी

लालू के वकील चितरंजन प्रसाद ने बताया कि अदालत ने सजा के बिन्दु पर सभी की बहस सुनने के बाद इस मामले में आदेश के लिए शनिवार चार बजे का समय निर्धारित किया है.

चाईबासा कोषागार से 37 करोड़, 70 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले में लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 30 सितंबर, 2013 को दोषी ठहराए जाने के बाद तीन अक्तूबर को क्रमश: पांच वर्ष कैद, 25 लाख रुपये जुर्माने और चार वर्ष कैद की सजा सुनाई गई थी. चारा घोटाले में लालू के खिलाफ यह दूसरा ऐसा मामला है जिसमें अब शनिवार को सजा सुनाए जाने की संभावना है.  

लालू ने कहा जेल में बहुत ठंड है, जज ने कहा- तबला बजाएं सब ठीक हो जाएगा

लालू ने कहा जेल में बहुत ठंड है, जज ने कहा- तबला बजाएं सब ठीक हो जाएगा

इसके अलावा उनके खिलाफ रांची में डोरंडा कोषागार से 184 करोड़ रुपये की फर्जी निकासी से जुड़ा मामला, दुमका कोषागार से तीन करोड़, 97 लाख रुपये निकासी और चाईबासा कोषागार से अवैध रूप से 36 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से संबंधित मुकदमे अभी चल रहे हैं जिनकी सुनवाई अंतिम दौर में है.

भाषा इनपुट