श्रीनगर: आतंकी हमले को लेकर आई रिपोर्ट के संदर्भ में शुक्रवार को अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर हवाईअड्डा और अवंतीपोरा में भारतीय वायुसेना डेढ़ दशक पहले से ही हाई अलर्ट पर हैं. एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा और अवंतीपोरा हवाईअड्डा हमेशा से ही आतंकवादियों के बेहद ‘उच्च मूल्य’ वाले निशाने पर रहे हैं.

 

उन्होंने कहा कि मीडिया में चल रही रिपोर्ट जिसमें यह कहा जा रहा है कि इन दो स्थानों को आतंकवादियों से खतरा है, इसमें कुछ भी नया नहीं है. श्रीनगर हवाईअड्डा और अवंतीपोरा बेस को पहले से ही अलर्ट पर रखा गया है. 2001 में श्रीनगर हवाईअड्डे के बाहरी गेट पर हुए हमले के बाद से ही यहां सुरक्षा चाक चौबंद है. अधिकारी ने कहा कि इन स्थानों पर गार्ड को कम करने या सुरक्षा बढ़ाने का कोई सवाल ही नहीं है. सुरक्षा घटक और निगरानी उपकरण ग्रिड हमेशा अधिकतम अलर्ट पर रहते हैं.

जम्मू-कश्मीर: दो एनकाउंटर में सुरक्षा बलों ने मार गिराए 6 आतंकवादी, एक सैनिक शहीद

17 जनवरी, 2001 को आतंकवादियों ने श्रीनगर हवाईअड्डे के बाहरी गेट पर हमला किया था जिसमें छह आतंकवादी, तीन सुरक्षाकर्मी, एक बैंक अधिकारी और एक किशोर सहित 11 लोग मारे गए थे. बाहरी गेट मुख्य हवाईअड्डे की इमारत और रनवे से कम से कम एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. (इनपुट एजेंसी)