नई दिल्ली. वायुसेना के ऑपरेशन पर विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. विदेश सचिव विजय गोखले ने कार्रवाई की जानकारी देते हुए कहा, आतंकी संगठन जैश-ऐ-मोहम्मद पिछले 20 साल से पाकिस्तान में सक्रिय है. लेकिन पाकिस्तान इससे लगातार इनकार करता रहा है. 14 फरवरी को इस संगठन ने पुलवामा में आतंकी हमले का अंजाम दिया, जिसमें हमारे 40 जवान शहीद हुए. इसके बाद भी पाकिस्तान ने जैश पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की. इसके बाद सोमवार की रात सेना ने बालाकोट में जैश के सबसे बड़े आतंकी ठिकाने पर हमला किया. Also Read - LAC के करीब उड़ान भर रहे चीनी लड़ाकू विमान, भारत ने भी तैनात किए अपने फाइटर जेट्स

विजय गोखले ने कहा, वायुसेना ने इंटेलिजेंस के इनपुट पर ये हलमा किया है. भारत को इन आतंकी अड्डों के बारे में पुख्ता खुफिया जानकारी थी. इसके बाद बालाकोट इलाके में जैश के ठिकानों को तबाह किया गया. उन्होंने कहा कि इन अड्डों को आतंकी, जिहादियों के ग्रुप और कई कमांडर संचालित कर रहे थे. उन्होंने यह भी कहा कि इसमें मसूद अजहर का साला भी शामिल है.

भारत की कार्रवाई में सिर्फ आतंकी अड्डे ही ध्वस्त किए गए. इसमें आम लोगों को किसी तरह से परेशान नहीं किया गया.