श्रीनगर: श्रीनगर की एक मस्जिद में पूर्व आतंकवादी कमांडर व जाने-माने मौलवी की हत्या कर दी गई. उनकी पहचान 80 वर्षीय अब्दुल गनी डार उर्फ अब्दुल्ला गजाली के रूप में की गई है. वह प्रमुख अहले हदीस मौलवी थे और आतंकवादी संगठन तहरीक-उल-मुजाहिद्दीन के संस्थापक सदस्यों में एक थे. Also Read - सागर मर्डर केस: ओलंपिक खिलाड़ी सुशील कुमार के पीछे पड़ी पुलिस, FIR में नाम दर्ज

पुलिस ने कहा कि उन पर मस्जिद के भीतर किसी कुंद वस्तु से हमला किया गया और उनकी मौके पर ही मौत हो गई. जम्मू-कश्मीर पुलिस मस्जिद के भीतर व बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है. श्रीनगर के एसएसपी हसीब मुगल ने कहा, “मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी गई है. उन्होंने कहा, “हम सभी साक्ष्यों को जुटा रहे हैं.” Also Read - शोपिया में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, तीन आंतकवादी ढेर, एक ने किया सरेंडर

2015 में मिली थी जमानत
डार, जमीयत अहले हदीस के प्रमुख मौलाना शौकत की हत्या में सह अभियुक्त थे, जिनकी हत्या 2011 में विस्फोट के दौरान हुई. इस मामले में उन्हें 2015 में जमानत मिली. (इनपुट एजेंसी) Also Read - जीजा के इश्‍क में ऐसी अंधी हुई युवती, अपने पति का ही मर्डर करवा दिया...