नई दिल्ली. पूर्व रक्षामंत्री और जॉर्ज फर्नांडिस का मंगलवार की सुबह निधन हो गया. वह 88 साल के थे. वह पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे. डॉक्टरों के मुताबिक, वह अल्जाइमर रोग से पीड़ित थे और उन्हें कुछ भी याद नहीं रहता था. जॉर्ज को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का करीबी माना जाता था. उनके निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्यक्त किया है.

जॉर्ज फर्नांडिस ने दिल्ली के मैक्स अस्पताल में अंतिम सांस ली. बताया जा रहा है कि उन्हें स्वाइन फ्लू भी था. आखिरी बार वो अगस्त 2009 से जुलाई 2010 के बीच तक राज्यसभा सांसद रहे थे. इसके बाद वह स्वास्थ्य कारणों से राजनीति से दूर हो गए.

जॉर्ज फर्नांडिस का जन्म 3 जून 1930 को हुआ था. उन्होंने पत्रकारिता से करियर की शुरुआत की थी. इसके बाद उन्होंने श्रमिकों की आवाज उठाई और श्रमिक संगठन के नेता बन गए. उन्होंने समता पार्टी की स्थापना की थी. इमरजेंसी के दौरान वह लंबे समय तक जेल गए और लोकतांत्रिक अधिकारों की लड़ाई लड़ते रहे. कारगिल युद्ध के समय वह देश के रक्षामंत्री थे. साल 1967 से 2004 तक वह 9 बार लोकसभा चुनाव जीते थे.