नई दिल्ली. दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की दिग्गज नेता शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया. वह 81 साल की थीं. दिल्ली में लगातार तीन कार्यकाल तक मुख्यमंत्री का पद संभालने वाली शीला दीक्षित को अभी हाल ही में कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली की पार्टी इकाई की जिम्मेदारी सौंपी थी. उनके ऊपर आने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के अभियान का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी थी. Also Read - JNU में भारी बवाल: घायल छात्रों से मिलीं प्रियंका गांधी, बोलीं- ‘मोदी-शाह के गुंडे’ हमारे विश्वविद्यालयों में उपद्रव कर रहे हैं

बताया जा रहा है कि लंबी बीमारी की वजह से शीला दीक्षित का निधन हुआ. शीला दीक्षित कुछ समय पहले हुए लोकसभा चुनाव में सक्रिय थीं. वो 1998 से लेकर 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं. उनके निधन से लोग स्तब्ध हैं. कांग्रेस में उनके निधन से शोक की लहर है. दीक्षित दिल्ली में सबसे लम्बे समय तक काम करने वाली मुख्यमंत्री रही थीं. Also Read - दिल्‍ली में जामा मस्जिद के बाहर जमा हुई भीड़, कांग्रेस नेता भी शामिल, पुलिस ने कड़ी की सुरक्षा

दिल्ली में कॉमनवेल्थ खेल के दौरान राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के विकास के लिए शीला दीक्षित को याद किया जाता है. इसके अलावा कांग्रेस पार्टी में गांधी परिवार की करीबी नेता के रूप में भी उन्हें देखा जाता था. Also Read - दक्षिण कोरिया की यात्रा पर राहुल गांधी, प्रधानमंत्री ली नायक योन से की मुलाकात