नई दिल्ली: पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली को यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है. उनकी हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है. सूत्रों ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी. पूर्व केंद्रीय मंत्री को एक्सट्रा-कॉर्पोरेशनल मेंब्रेन ऑक्सिजिनेशन (ईसीएमओ) में रखा गया है. इसमें ऐसे मरीजों को रखा जाता है, जिनके फेफड़े और हृदय अपने आप काम नहीं कर पाते हैं.

 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई नेता यहां एम्स में उनका हालचाल जानने के लिए पहुंचे. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में 9 अगस्त से भर्ती जेटली से मिलने के लिए उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मयावती भी आईं. उन्होंने ट्वीट किया कि आज मैं पूर्व वित्त एवं रक्षा मंत्री अरुण जेटली जी के स्वास्थ्य संबंधी जानकारियों को जानने के लिए एम्स गई थी. वहां मैं उनके परिजनों और उनसे मिली. मैं भगवान से जेटली जी के जल्दी स्वस्थ होने की कामना करती हूं.

अरुण जेटली की हालत नाजुक, आधी रात में एम्स पहुंचे अमित शाह

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी जेटली से मिलने एम्स पहुंचे
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को दिल्ली पहुंचे और हवाईअड्डे से सीधे अस्पताल पहुंचे. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी और ज्योतिरादित्य सिंधिया सभी जेटली के स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए एम्स पहुंचे. शुक्रवार रात, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जेटली से मिलने एम्स पहुंचे थे.(इनपुट एजेंसी)