गोवा में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता लुइजिन्हो फलेरियो (Luizinho Faleiro) ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. लुइजिन्हो फलेरियो ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को भेजे अपने इस्तीफे में लिखा कि उन्हें अब न तो कोई उम्मीद दिखती है और न ही पार्टी के पतन को रोकने के लिए कोई इच्छाशक्ति. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस ‘वही पार्टी नहीं है जिसके लिए हमने बलिदान दिया और संघर्ष किया.’Also Read - समीर वानखेड़े ने मुंबई पुलिस कमिश्‍नर को लिखा पत्र, मुझे गलत उद्देश्यों से फंसाने के लिए कोई कानूनी कार्रवाई न की जाए

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, 70 वर्षीय लुइजिन्हो फलेरियो के ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) में शामिल होने की चर्चा है. ऐसे कयास इसलिए लगाए जा रहे हैं कि उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रशंसा की. लुइजिन्हो फलेरियो ने कहा, ‘ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी को कड़ी टक्कर दी है. बंगाल में ममता का फॉर्मूला जीत गया है.’ Also Read - RJD चीफ लालू यादव के निवास के सामने बेटे तेज प्रताप पहले धरने पर बैठे, फि‍र की पिता से मुलाकात

Also Read - MP में कांग्रेस को बड़ा झटका, विधायक सचिन बिरला ने लोकसभा उपचुनाव के बीच में बीजेपी ज्‍वाइन की

इससे पहले गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता लुइजिन्हो फलेरियो ने राज्य विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. इस्तीफा देने से कुछ मिनट पहले उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी की प्रशंसा की और कहा कि देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला करने के लिए उनके जैसे नेता की जरूरत है.

लुइजिन्हो फलेरियो नवेलिम विधानसभा सीट से विधायक थे. उन्हें अगले साल होने वाले राज्य चुनावों के मद्देनजर गोवा कांग्रेस की प्रचार समिति का प्रमुख बनाया गया था. लुइजिन्हो फलेरियो के इस्तीफे के साथ 40 सदस्यीय सदन में कांग्रेस विधायकों की संख्या घटकर चार हो गई है. 2017 के राज्य विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 17 सीटें जीती थीं, लेकिन बाद में कई विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. जुलाई 2019 में, 10 विधायकों ने पार्टी छोड़ दी और सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए थे.

(इनपुट: ANI,भाषा)