शिमला: शिमला: सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर (Ex-CBI Director) अश्वनी कुमार (Ashwani Kumar) आज बुधवार को अपने निवास पर फांसी पर लटके मिले हैं. पूर्व सीबीआई प्रमुख अश्विनी कुमार ने शिमला स्थित अपने घर में कथित तौर पर खुदकुशी की. अश्विनी कुमार अपने आवास पर फंदे से लटकते पाये गए हैं. Also Read - 1.10 करोड़ रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़े गए अफसर ने जेल की कोठरी में लगाई फांसी

शिमला के एसपी मोहित चावला ने यह जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि सीबीआई के पूर्व चीफ शिमला के ब्रॉकहॉर्स स्थित अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी. प्रथम दृष्‍टया यह मामला आत्‍महत्‍या का है. पुलिस जांच की जा रही है. Also Read - By-Elections: 3 राज्‍यों के BJP के उम्‍मीदवारों की लिस्‍ट, UP से 6 कैंडिडेट्स, चेतन चौहान की पत्‍नी को टिकट

अश्विनी कुमार सीबीआई चीफ रहने से पहले हिमाचल प्रदेश पुलिस के डीजीपी रह चुके थे. पूर्व सीबीआई चीफ अश्‍विन कुमार मणिपुर और नगालैंड के राज्यपाल भी रह चुके हैं. अश्विनी कुमार अगस्त 2008 से नवंबर 2010 तक सीबीआई के डायरेक्‍टर रहे हैं.

अश्‍विन कुमार 2008 में सीबीआई के निदेशक बने थे, जब एजेंसी आरुषि तलवार हत्या मामले की जांच कर रही थी. कुमार ने विजय शंकर की जगह सीबीआई के निदेशक का पद संभाला था. अधिकारियों ने बताया कि कुमार बाद में नगालैंड के राज्यपाल बने थे. कुमार अभी शिमला में एक निजी विश्वविद्यालय के कुलपति थे.

अश्विनी कुमार का जन्म 15 नवंबर 1950 को हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के नाहन में हुआ था. कुमार ने किन्नौर जिले के कोठी गांव के पास सरकारी प्राइमरी स्कूल में अपनी शुरुआती पढ़ाई की. इसके बाद उन्होंने देहरादून और बिलासपुर के सरकारी कॉलेज से पढ़ाई की. उन्‍होंने ग्रेजुएशन नाहन स्थित सरकारी कॉलेज से किया था. उन्‍होंने मैनेजमेंट में पीएचडी की थी.

अधिकारियों ने बताया कि 1973 बैच के आईपीएस अधिकारी कुमार का शव बुधवार शाम में शिमला स्थित उनके आवास में फंदे से लटका मिला. अभी वह लगभग 69 साल के थे. एसपी मोहित चावला ने कहा, अभी मामले की जांच की जा रही है.