मुंबई: जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनीता गोयल को आव्रजन अधिकारियों ने शनिवार को मुंबई हवाई अड्डे पर विदेश के लिये उड़ान भरने से ठीक पहले रोक दिया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. दोनों एमिरेट्स की उड़ान संख्या ईके 507 से दुबई होते हुए लंदन के लिये उड़ान भरने वाले थे. हवाईअड्डे के एक अधिकारी ने बताया कि विमान उड़ान भरने के लिये उड़ान पट्टी की तरफ जा रहा था, तभी उसे वापस पार्किंग में बुला लिया गया.

 

एक अधिकारी ने कहा कि नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनीता गोयल ईके 507 उड़ान से लंदन जा रहे थे. उन्हें देश छोड़ने से रोक दिया गया. जेट एयरवेज के एक सूत्र ने बताया कि दोनों चार बड़े सूटकेस के साथ यात्रा कर रहे थे. उसने कहा कि सारे सूटकेस अनीता गोयल के नाम से थे. ये सूटकेस भी विमान से उतार लिये गये जिससे उड़ान में एक घंटे से अधिक की देरी हुई. उड़ान दोपहर तीन बजकर 35 मिनट पर रवाना होनी थी. दोनों को उतारने के बाद विमान ने शाम पांच बजे के बाद उड़ान भरी.

नरेश गोयल से इस बारे में प्रतिक्रिया के लिये संपर्क नहीं किया जा सका है. एमिरेट्स की प्रतिक्रिया का इंतजार किया जा रहा है. गोयल दंपत्ति को देश से बाहर जाने से रोके जाने के स्पष्ट कारण का तत्काल पता नहीं चल सका है. सूत्रों के अनुसार, नरेश गोयल बंद हो चुकी कंपनी जेट एयरवेज के बारे में विमानन कंपनी एतिहाद और हिंदुजा समूह के कार्यकारियों के साथ बैठक करने के लिये जा रहे थे. जेट एयरवेज का परिचालन नकदी संकट के कारण 17 अप्रैल से बंद है. पिछले सप्ताह हिंदुजा समूह ने कहा था कि वह जेट एयरवेज में निवेश करने के अवसर का मूल्यांकन कर रही है.

पिछले महीने जेट एयरवेज के अधिकारी एवं कर्मचारी संघ के अध्यक्ष किरण पावसकर ने मुंबई पुलिस आयुक्त को चिट्ठी लिखी थी. कई महीनों से कर्मचारियों का वेतन नहीं देने के लिए गोयल, अन्य निदेशकों और जेट एयरवेज प्रबंधन के वरिष्ठ अधिकारियों के पासपोर्ट जब्त करने का आग्रह किया गया था. नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनीता गोयल ने मार्च में जेट एयरवेज के निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया था. नरेश गोयल ने 26 साल पहले जेट एयरवेज की स्थापना की थी. (इनपुट एजेंसी)