कोलकाता: कोलकाता पुलिस के पूर्व आयुक्त राजीव कुमार सारदा चिटफंड मामले में पूछताछ के लिए सीबीआई द्वारा सम्मन किए जाने के बावजूद सोमवार को एजेंसी के अधिकारियों के समक्ष उपस्थित नहीं हुए. राजीव कुमार को एक बार फिर तलब कर लिया गया है, लेकिन वह सीबीआई के दफ्तर में उपस्थित नहीं हुए, सारदा चिटफंड केस के मामले में उनसे पूछताछ की जानी है.Also Read - नरेंद्र गिरि की मौत का मामला: संतों ने की CBI जांच की मांग, आनंद गिरि के खिलाफ मुकदमा

Also Read - नरेंद्र गिरि मौत मामला: पंखे के सहारे झूलता मिला था महंत का शव, संतों ने की CBI जांच की मांग, अबतक तीन हिरासत में

आज CBI के समक्ष पेश होंगे ममता के ‘चहेते’ अफसर राजीव कुमार, बड़ा सवाल- क्या होगी गिरफ्तारी? Also Read - न्यायाधीश उत्तम आनंद की मौत के मामले में CBI को नहीं मिला कोई नया 'सबूत', झारखंड हाईकोर्ट नाखुश

अधिकारियों ने बताया कि कुमार ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को एक पत्र भेजकर मामले में उसके अधिकारियों के सामने पेश होने के लिए और समय मांगा है. सीआईडी के एक अधिकारी साल्ट लेक सिटी में सीबीआई कार्यालय पहुंचे और एक पत्र सौंपा. इस पत्र में कुमार ने कहा है कि वह तीन दिन की छुट्टी पर हैं, इसलिए नहीं आ पाएंगे.

चुनाव खत्म, ममता सरकार ने अपने 11 ‘चहेते’ पुलिस अफसरों को बहाल किया

सीबीआई सूत्रों ने कहा कि एजेंसी को पूछताछ से रोकने के लिए कुमार कोई कानूनी कदम नहीं उठा पाएं, इसके लिए अधिकारी बारासात अदालत में मौजूद थे. सीबीआई ने रविवार को आईपीएस अधिकारी को सोमवार को एजेंसी के साल्ट लेक कार्यालय में सम्मन किया था. सारदा मामले की जांच के सिलसिले में आवास पर कुमार से मुलाकात नहीं होने के बाद यह कदम उठाया गया था.

कौन हैं ये पुलिस कमिश्नर, जिनके लिए रात में धरने पर बैठीं ममता बनर्जी, हो रहा रेल रोको प्रोटेस्ट