प्रख्यात समाजवादी पूर्व लोकसभा अध्यक्ष रवि रे का ओडिशा में कटक स्थित श्रीरामचंद्र भंज मेडिकल कॉलेज अस्पताल में सोमवार को 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया। रवि रे पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थें। जिसके बाद उन्हें रविवार को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके निधन पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, केंद्रीय मंत्री जुएल उरांव समेत कई लोगो ने शोक व्यक्त किया है।Also Read - Padma Bhushan Award List: रामविलास पासवान और तरुण गोगोई को मरणोपरांत मिला पद्म भूषण अवॉर्ड, यहां देखें पूरी लिस्ट

रवि राय के बाद अब उनके परिवार में उनकी पत्नी सरस्वती स्वेन हैं। बता दें रवि रे की कोई संतान नहीं है। रवि राय का जन्म ओडिशा के खुर्दा जिले के भानरागढ़ गांव में 26 नवंबर 1926 को हुआ था। शुरुवाती दौर में रवि राय छात्रसंघ के अध्यक्ष थे। लेकिन बाद  रवि रे पहली बार 1989-91 तक 9वीं लोकसभा के अध्यक्ष थे। अपने दौर में वे उड़िया, हिंदी और अंग्रेजी भाषा के जानकार थे। Also Read - 29 जनवरी से 15 फरवरी तक चलेगा बजट सत्र, लोकसभा अध्यक्ष बोले- आरटी-पीसीआर टेस्ट कराएंगे सभी सांसद

रवि रे के निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को कटक की एम एस लॉ कॉलेज और रेवनशॉ विश्वविद्यालय जाया जाएगा। जहां पर उनके पार्थिव शरीर के दर्शन के लिए लोग पहुंचेंगे। ( फोटो क्रेडिट – Naidunia.com ) Also Read - लोकसभा में गूंजा.... गधा-डाकू-कल का छोकरा-लुटेरा खानदान, स्पीकर ने दी कड़ी चेतावनी