कलबुर्गी: कर्नाटक के पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता राजा मदनगोपाल नायक का कोविड-19 से राज्य के उत्तरी क्षेत्र कलबुर्गी स्थित एक नामचीन अस्पताल में निधन हो गया. एक अधिकारी ने यह जानकारी मंगलवार को दी. नायक 70 वर्ष के थे. कलबुर्गी जिला स्वास्थ्य अधिकारी के.एस. मल्लिकार्जुन ने बताया, “नायक का कोरोनावायरस के कारण सोमवार को अस्पताल में निधन हो गया. उन्हें अस्पताल में 23 जुलाई को भर्ती कराया गया था. वह यादिगीर जिले के निकट स्थित अपने पैतृक स्थान (सुरपुर) से यहां इलाज के लिए आए थे.” कलबुर्गी बेंगलुरु से लगभग 630 किलोमीटर उत्तर में है. Also Read - Viral Video:'लव यू जिंदगी' सुनते-सुनते कोरोना से हार गई ये युवा मां, हजारों दुआओं...

नायक साल 1992-94 के दौरान वीरप्पा मोइली के नेतृत्व वाली कांग्रेस की सरकार में मंत्री थे. वह न्यूमोनिया और हृदयरोग से भी पीड़ित थे. वह राज्य के पहले राजनेता हैं, जिनका कोविड-19 से निधन हुआ है. अधिकारी ने याद किया, “नायक यहां जैसे ही भर्ती हुए, उनके स्वैब का नमूना जांच के लिए ले जाया गया. रिपोर्ट पॉजिटिव आई, इसके बाद से कोविड के लक्षणों के मुताबिक उनका इलाज चल रहा था.” नायक के परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटे हैं. Also Read - Kerala Lockdown Extension News: केरल में फिर बढ़ा लॉकडाउन, अब 23 मई तक तालाबंदी

पार्टी के कद्दावर नेता नायक को कांग्रेस ने जब टिकट देने से इनकार कर दिया था, तब वह क्षेत्रीय पार्टी जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) में शामिल हो गए थे. वह साल 1994 और 1999 के विधानसभा चुनाव सुरपुर से जीते थे. बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए. अप्रैल 2013 का विधानसभा चुनाव वह कांग्रेस के राजा वेंकटप्पा से हार गए थे. इसके बाद वह फिर कांग्रेस में शामिल हो गए थे. Also Read - World Test Championship से पहले भारत को झटका, Wriddhiman Saha अब भी कोरोना पॉजिटिव