बेंगलुरू: पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस के समर्थन के बिना अकेले क्षेत्रीय दल प्रधानमंत्री नहीं बना सकते. उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनावों के बाद राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाए जाने के लिए पूरा समर्थन दिया जाएगा.

देवगौड़ा ने कहा, ‘‘2019 के लोकसभा चुनाव में देश में कोई भी क्षेत्रीय दल राहुल गांधी को छोड़कर, किसी को भी प्रधानमंत्री नहीं बना सकते. लेकिन कांग्रेस का फैसला अंतिम होगा.’’ बेल्लारी में संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मैं साफ-साफ कह रहा हूं. राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए मेरा पूरा समर्थन है.’’

शिवपाल का ऐलान, पार्टी की ओर से मुलायम होंगे PM पद के उम्मीदवार, हमें 40 दलों का समर्थन

उनका बयान ऐसे वक्त पर आया है जब एक सप्ताह पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा था कि कांग्रेस ने औपचारिक रूप से कभी नहीं कहा कि अगर विपक्षी गठबंधन अगली सरकार बनाता है तो राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनना चाहिए.

सामने आई सरकार और आरबीआई के बीच तल्खी, वित्त मंत्री ने एनपीए के लिए बताया जिम्मेदार

दरअसल, 2019 के चुनावों में भाजपा से मुकाबले के लिए राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन बनाने की कोशिशों में लगी कांग्रेस नहीं चाहती कि गठबंधन के नेतृत्व के मुद्दे पर दलों के बीच टकराव हो. इस साल अप्रैल में कर्नाटक में विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार के दोरान राहुल ने जरूर कहा था कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनी तो वे प्रधानमंत्री बन सकते हैं. लेकिन अब तक किसी सहयोगी दल ने अब तक कुछ खास प्रतिक्रिया नहीं दी. देवगौड़ा से पहले राजद के तेजस्वी यादव ने जरूर राहुल का समर्थन किया था, लेकिन पीएम पद को लेकर सबसे स्पष्ट प्रतिक्रिया जदएस की ही आई है.